Breaking News
  • FATF की बैठक में पाकिस्‍तान को फिर झटका, ग्रे-लिस्‍ट से बाहर निकलने के मंसूबों पर फिरा पानी
  • कार्ति चिदंबरम को ब्रिटेन और फ्रांस जाने की कोर्ट से मिली इजाजत
  • अफगानिस्‍तान: राष्‍ट्रपति पद के लिए हुए चुनाव में पहले राउंड में अशरफ गनी ने जीत हासिल की

बांग्लादेश: आम चुनाव में प्रचंड जीत के बाद बोलीं शेख हसीना, 'मैं सभी की PM बनूंगी'

शेख हसीना की अवामी लीग और इसके सहयोगी दलों ने रविवार को हुए आम चुनाव में प्रचंड जीत दर्ज की और मतदान वाली 299 सीटों में से 288 पर कब्जा कर लिया.

बांग्लादेश: आम चुनाव में प्रचंड जीत के बाद बोलीं शेख हसीना, 'मैं सभी की PM बनूंगी'
शेख हसीना ने कहा, 'हमने विभिन्न परियोजनाओं को हरी झंडी दी है, हमें उन पर काम करना है. अब सबसे महत्वपूर्ण काम हमारे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का है.' (फोटो साभार - PTI)

ढाका: बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने कहा है कि वह सभी देशवासियों की प्रधानमंत्री होंगी और उनकी सरकार की पहली प्राथमिकता आर्थिक सुधारों को जारी रखने की होगी. हसीना की अवामी लीग और इसके सहयोगी दलों ने रविवार को हुए आम चुनाव में प्रचंड जीत दर्ज की और मतदान वाली 299 सीटों में से 288 पर कब्जा कर लिया.

ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार हसीना ने कहा कि वह पांच साल के आगामी कार्यकाल के दौरान 'सभी की प्रधानमंत्री' के रूप में काम करेंगी. उन्होंने कहा कि नई सरकार की प्राथमिकता पहले ही शुरू हो चुके कार्यक्रमों को पूरा करने की होगी.

'सबसे महत्वपूर्ण काम हमारे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का है'
हसीना ने कहा, 'हमने विभिन्न परियोजनाओं को हरी झंडी दी है, हमें उन पर काम करना है. अब सबसे महत्वपूर्ण काम हमारे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का है.' उन्होंने कहा कि पहली प्राथमिकता आर्थिक गतिविधियों को जारी रखने की होगी, जिससे कि लोगों को बेहतर जीवन मिल सके.

हसीना ने कहा कि उनकी पार्टी बदले की राजनीति में विश्वास नहीं करती. उन्होंने मतदान में गड़बड़ी के विपक्ष के आरोप को भी नकारा. उन्होंने कहा कि 40 हजार मतदान केंद्रों में से अनियमितता की एक या दो घटनाओं से समूचा चुनाव बेकार नहीं हो जाता. हसीना ने कहा, 'वे (लोग) सरकार, विकास को बरकरार रखना चाहते थे जिसके लिए उन्होंने हमारे पक्ष में जबरदस्त मतदान किया.' 

देश में चुनाव संबंधी हिंसा में एक सुरक्षा एजेंसी के एक सदस्य सहित कम से कम 18 लोग मारे गए हैं और 200 से ज्यादा घायल हुए हैं. यह चुनाव देश में सार्वधिक हिंसा वाले चुनावों में से एक रहा है.

(इनपुट - भाषा)