अफगानिस्तान: तालिबान के हमले के बाद भयंकर मुठभेड़, 99 आतंकी मरे, 12 सैनिक शहीद

मंत्रालय के अनुसार, आतंकियों ने स्थानीय लोगों के घरों को अपना मुख्यालय बनाया था. ऐसे में स्थानीय नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए सुरक्षा बलों को पीछे हटना पड़ा. 

अफगानिस्तान: तालिबान के हमले के बाद भयंकर मुठभेड़, 99 आतंकी मरे, 12 सैनिक शहीद
.(फाइल फोटो)

काबुल: अफगानिस्तान के बदघिस प्रांत में सैनिकों और तालिबान लड़ाकुओं के बीच हुई भयंकर मुठभेड़ में 12 सैनिक और 99 आतंकी मारे गए . रक्षा मंत्रालय द्वारा सोमवार को इस मुठभेड़ की जानकारी दी गई. 4 अप्रैल को तालिबान द्वारा जिले के कई सुरक्षा चेकपोस्ट को नष्ट किए जाने के बाद, शनिवार के दिन आतंकियों को जिला से बाहर खदेड़ने के लिए सरकारी सेना ने बड़े पैमाने पर जवाबी कार्रवाई की. मंत्रालय के अनुसार, आतंकियों ने स्थानीय लोगों के घरों को अपना मुख्यालय बनाया था. ऐसे में स्थानीय नागरिकों की सुरक्षा को देखते हुए सुरक्षा बलों को पीछे हटना पड़ा.

उनके अनुसार, लड़ाई अभी जारी है. बदघिस का बाला-मुर्गहब जिला तुर्केमेनिस्तान की सीमा से लगे होने की वजह से कूटनीतिक दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है. ये देश की पश्चिमी और उत्तरी पश्चिमी प्रांतों को आपस में जोड़ता है.

अफगानिस्तान: तालिबान के हमले में 7 पुलिसकर्मियों की मौत
अफगानिस्तान के उत्तरी सर-ए-पुल प्रांत में सुरक्षा चौकी पर तालिबान के हमले में कम से कम चार पुलिसकर्मियों की मौत हो गई. अफगानिस्तान के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. प्रांतीय परिषद के प्रमुख मोहम्मद नूर रहमानी ने कहा कि प्रांत की राजधानी के बाहरी इलाके में शनिवार को हुए हमले में पांच अन्य घायल हो गए.

पूर्वी गजनी प्रांत की पुलिस ने कहा कि तालिबान ने यहां भी शनिवार को सुरक्षा चौकियों पर हमले किये, जिसमें तीन कर्मियों की मौत हो गई और सात घायल हुए हैं. प्रांतीय पुलिस प्रमुख के एक प्रवक्ता अहमद खान सेरत ने कहा कि पुलिस ने मुठभेड़ के दौरान सात विद्रोहियों को मार गिराया. तालिबान ने गजनी में हुए हमले की जिम्मेदारी ली है, लेकिन सर-ए-पुल पर कोई बयान नहीं दिया.