close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पत्रकार खशोगी की हत्या के 100 दिन बाद अमेरिकी सांसदों ने की शोक सभा

सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने वॉशिंगटन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा, ''खशोगी की हत्या मानवता पर एक जघन्य अत्याचार और उसका अपमान है.''

पत्रकार खशोगी की हत्या के 100 दिन बाद अमेरिकी सांसदों ने की शोक सभा
अक्टूबर 2018 में इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में खशोगी की हत्या कर दी गई थी.(फाइल फोटो)

वॉशिंगटनः अमेरिका की दोनों राजनीतिक पार्टियों रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों, दिवंगत पत्रकार जमाल खशोगी के दोस्तों और प्रेस स्वतंत्रता की वकालत करने वाले समूहों ने खशोगी की हत्या के 100 दिन गुजर जाने पर गुरुवार को शोक कार्यक्रम का आयोजन किया. अमेरिकी झंडों के आगे खशोगी का चित्र रखा गया और फिर कुछ देर का मौन रखने के साथ कार्यक्रम शुरू हुआ. सदन की अध्यक्ष नैन्सी पेलोसी ने वॉशिंगटन में आयोजित कार्यक्रम के दौरान कहा, ''खशोगी की हत्या मानवता पर एक जघन्य अत्याचार और उसका अपमान है.''

कौन हैं गायब हुए पत्रकार जमाल खागोशी, जिनके कारण अमेरिका ने सऊदी अरब को दी धमकी

अमेरिका में रहते हुए वॉशिंगटन पोस्ट के लिए काम करने वाले खशोगी की अक्टूबर में इस्तांबुल स्थित सऊदी अरब के वाणिज्य दूतावास में हत्या कर दी गई थी. वहां वह अपनी शादी को लेकर दस्तावेज संबंधी औपचारिकता पूरी करने के लिए गए थे. खशोगी की मौत पर सऊदी अरब को लेकर ट्रंप के रुख पर पूरे राजनीतिक खेमे में आक्रोश देखने को मिला था.

अमेरिकी मध्यावधि चुनाव में ट्रंप को बड़ा झटका, निचले सदन में डेमोक्रेट्स का कब्जा

पेलोसी ने कहा, ''अगर हम यह तय करते हैं कि व्यावसायिक हित हमारे बयानों और कदमों के विरुद्ध चले जाते हैं तो हमें यह स्वीकार करना ही होगा कि हमने किसी भी तरह के कहीं भी, किसी भी वक्त हो रहे अत्याचार के बारे में बात करने की सारी नैतिक जिम्मेदारी खो दी है.'' समाचारपत्र के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) फ्रेड रयान ने कहा कि खशोगी की मौत ने, ''वाशिंगटन पोस्ट के सहयोगियों को बहुत गहरे तक छुआ है.'' उन्होंने कहा, ''जमाल की हत्या प्रेस स्वतंत्रता के खिलाफ बढ़ रहे हमलों का हिस्सा है जिन्हें दुनिया भर के अत्याचारी अंजाम दे रहे हैं.