close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

ZEE जानकारी: रूस ने पीएम मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान से किया सम्मानित

प्रधानमंत्री मोदी को ये सम्मान दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी में योगदान देने, और दोनों देशों के नागरिकों के बीच दोस्ताना संबंधों को बढ़ावा देने के लिए.. दिया गया है.

ZEE जानकारी: रूस ने पीएम मोदी को अपने सर्वोच्च नागरिक सम्मान से किया सम्मानित

Russia ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान से सम्मानित किया है. इस सम्मान का नाम है The Order Of The Holy Apostle Andrew The First-Called. साधारण भाषा में आप इसे Russia का भारत रत्न भी कह सकते हैं.

प्रधानमंत्री मोदी को ये सम्मान दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी में योगदान देने, और दोनों देशों के नागरिकों के बीच दोस्ताना संबंधों को बढ़ावा देने के लिए.. दिया गया है. ये Russia का सर्वोच्च नागरिक सम्मान है. और इसे उल्लेखनीय काम करने वाले Russia के नागरिकों और देश-विदेश के प्रमुख नेताओं को दिया जाता है.  इस अवॉर्ड को 17वीं सदी के अंत में ज़ार पीटर प्रथम ने, Apostle Andrew the First-Called के सम्मान में शुरू किया था.

Apostle मूल रुप से ईसाई धर्म के प्रचारक होते हैं. और ऐसा माना जाता है, कि Saint Andrew ईसा मसीह के चार सबसे क़रीबी शिष्यों में से एक थे. 

हालांकि, 1917 में Russia की क्रांति के बाद इस पुरस्कार को समाप्त कर दिया गया था. उस समय तक दुनिया भर के एक हज़ार लोगों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका था. जिनमें से आधे विदेशी नागरिक थे. 

जुलाई 1998 में Russia के तत्कालीन राष्ट्रपति Boris Yeltsin ने इस अवॉर्ड को दोबारा शुरू किया.

और तब से लेकर अब तक इस पुरस्कार से सम्मानित होने वालों में कई बड़े राष्ट्र अध्यक्षों का नाम शामिल हो चुका है. 

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग को भी ये सम्मान मिल चुका है. 

नरेंद्र मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्हें Russia का सर्वोच्च नागरिक सम्मान दिया गया है.

भारत के प्रधानमंत्री को मिला सम्मान, आपका सम्मान है. देश का सम्मान है. इसलिए ये भारत के लिए गर्व का विषय है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस सम्मान के लिए Russia और वहां के लोगों का शुक्रिया अदा किया है. और कहा है, कि भारत और Russia के रिश्ते काफी गहरे हैं. और दोनों देशों की साझेदारी का भविष्य बहुत उज्जवल है. नरेंद्र मोदी ने ख़ास तौर पर व्लादिमीर पुतिन का ज़िक्र किया है. और कहा है, कि राष्ट्रपति पुतिन दोनों देशों की दोस्ती के मज़बूत स्तंभ हैं. 

हम एक बार फिर आपसे कहना चाहते हैं, कि इस ख़बर को आप किसी व्यक्ति विशेष तक सीमित ना रखें. क्योंकि, ये देश के सम्मान से जुड़ी हुई ख़बर है. और पिछले कुछ वर्षों में ऐसा एक बार नहीं हुआ है. बल्कि कई बार आप सभी का नेतृत्व करने वाले भारत के प्रधानमंत्री को दुनिया ने सम्मान दिया है. पिछले हफ्ते ही UAE ने भारत के प्रधानमंत्री को, अपने देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'ज़ायेद मेडल' से सम्मानित करने की घोषणा की थी.

अक्टूबर 2018 में उन्हें Seoul Peace Prize से सम्मानित किया गया था. और इसी वर्ष 22 फरवरी को उन्होंने ये अवॉर्ड ग्रहण किया था. भारत के प्रधानमंत्री को ये सम्मान, अंतर्राष्ट्रीय सहयोग, दुनिया की आर्थिक प्रगति और भारत के लोगों के विकास की दिशा में काम करने के लिए दिया गया था.

सितम्बर 2018 में उन्हें संयुक्त राष्ट्र का सर्वोच्च पर्यावरण पुरस्कार दिया गया था. जिसे Champions of the Earth Award कहते हैं. 

फरवरी 2018 में प्रधानमंत्री मोदी को फिलिस्तीन ने Grand Collar of the State of Palestine से सम्मानित किया था. ये फिलिस्तीन में दुनिया के राष्ट्राध्यक्षों को दिया जाने वाला सबसे बड़ा सम्मान है.

वर्ष 2016 में अफगानिस्तान ने भी अपने देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान, Amir Amanullah Khan Award से भारत के प्रधानमंत्री को सम्मानित किया था. 

इसके अलावा 2016 में ही नरेंद्र मोदी को...सऊदी अरब में.. वहां के सर्वोच्च नागरिक सम्मान 'The King अब्दुलअज़ीज़ सैश' (The King Abdulaziz Sash) से सम्मानित किया गया था.

इन सभी अवॉर्ड्स को आप पूरी दुनिया में भारत के बढ़ते हुए कद का असर कह सकते हैं. हालांकि, सोशल मीडिया पर कई बुद्धिजीवी और पत्रकार भारत के प्रधानमंत्री को Russia या UAE द्वारा दिए गए सम्मान की Timing पर भी सवाल खड़े कर रहे हैं. और कह रहे हैं कि चुनाव से ठीक पहले ये अवॉर्ड क्यों दिया गया.
ये सवाल बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि Russia और UAE ये सम्मान, चुनाव के बाद भी दे सकते थे. आखिर चुनाव के दौरान ये सम्मान देने का क्या मतलब है? इसका एक अर्थ ये है कि अंतर्राष्ट्रीय कूटनीति के स्टॉक एक्सचेंज में नरेंद्र मोदी अब भी एक मज़बूत नेता हैं. और उन्हें सम्मान देकर Russia और UAE ने ये जताया है कि उन्हें भारत के चुनाव में नरेंद्र मोदी की वापसी का पूरा भरोसा है. आप इसे भारत की Gross National Power भी कह सकते हैं. जो दमदार विदेश नीति की वजह से बढ़ गई है.

चुनाव के मौसम में जब ऐसी ख़बरें आती हैं तो मीडिया में उन्हें ये सोचकर किनारे लगा दिया जाता है कि इस ख़बर को प्राथमिकता देना, किसी नेता का पक्ष लेने जैसा है. लेकिन हमें लगता है कि ये सम्मान भारत की किसी पार्टी के नेता को नहीं दिया गया. बल्कि ये भारत के 135 करोड़ लोगों का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रधानमंत्री का सम्मान है. इसलिए इस सम्मान को राजनीति के चश्में से नहीं देखना चाहिए.

भारत का प्रधानमंत्री चाहे कोई भी हो. वो देश और दुनिया में आपका नेतृत्व करता है. इसलिए देश के प्रधानमंत्री को मिला सम्मान, आपका सम्मान है और इसमें Russia के साथ भारत की फायदे वाली दोस्ती भी दिखाई देती है.