Mokshada Ekadashi 2022: मोक्षदा एकादशी पर भूलकर भी न करें ये काम, इन बातों का रखें ध्यान

Mokshada Ekadashi 2022: मार्गशीर्ष मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को ही भगवान श्रीकृष्ण ने महाभारत में अर्जुन को गीता का उपदेश दिया था. इसलिए इस दिन गीता जयंती भी मनाई जाती है.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Dec 3, 2022, 01:43 PM IST
  • मोक्षदा एकादशी पर क्या करें?
  • मोक्षदा एकादशी पर क्या न करें?
Mokshada Ekadashi 2022: मोक्षदा एकादशी पर भूलकर भी न करें ये काम, इन बातों का रखें ध्यान

नई दिल्ली. Mokshada Ekadashi 2022 हिंदू धर्म में मोक्षदा एकादशी का विशेष महत्व है. हिंदू कैलेंडर के अनुसार मोक्षदा एकादशी हर साल मार्गशीर्ष महीने में शुक्ल पक्ष को मनाई जाती है. शास्त्रों के अनुसार, मोक्षदा एकादशी के दिन लोग पूर्वजों की मोक्ष प्राप्ति के लिए व्रत रखते हैं.

मान्यता के अनुसार, भगवान विष्णु इस दिन व्रत रखने वाले अपने भक्तों की सभी मनोकामना पूरी करते हैं. मोक्षदा एकादशी को साल की सबसे महत्वपूर्ण एकादशी में से एक माना जाता है. शास्त्रों के अनुसार, मोक्षदा एकादशी का व्रत करते समय कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए.

मोक्षदा एकादशी 2022: क्या करें
1. इस दिन विधिवत तरीके से भगवान की पूजा करनी चाहिए.
2. एकादशी का व्रत रखने वाले लोगो को अगले दिन व्रत का पारण करना चाहिए.
3. सुबह के समय फलाहार करना चाहिए.
4. पूरे समर्पण और भक्ति के साथ भगवान की पूजा करें.
5. दिन के समय भगवान कृष्ण का जाप या गुणगान करें.

मोक्षदा एकादशी 2022: क्या न करें
1. मोक्षदा एकादशी के दिन भगवान विष्णु को तुलसी का पत्ता चढ़ाने के लिए पत्ते एक दिन पहले ही तोड़कर रख लें.
2. इस दिन चावल का सेवन भूलकर भी नहीं करना चाहिए.
3. जौ, मसूर की दाल, बैंगन और बीन्स का सेवन करने से बचें.
4. इस दिन मांसाहार से परहेज करें.
5. गलती से भी शराब का सेवन नहीं करें.

(Disclaimer: यहां दी गई सभी जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. Zee Hindustan इसकी पुष्टि नहीं करता है. किसी भी जानकारी को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह जरूर ले लें.)

यह भी पढ़िए- Mokshada Ekadashi 2022: मोक्षदा एकादशी का व्रत आज, इस विधि से करें भगवान विष्णु की पूजा

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़