• देश में कोविड-19 से सक्रिय मरीजों की संख्या 77,103 पहुंची, जबकि संक्रमण के कुल मामले 1,38,845: स्त्रोत-PIB
  • कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या- 57,721 जबकि अबतक 4,021 मरीजों की मौत: स्त्रोत-PIB
  • भारतीय रेलवे 2813 श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई हैं, इसमें 37 लाख से भी अधिक यात्रियों ने सफर किया
  • 571 लाइफलाइन उड़ानों ने 5,17,951 किलोमीटर की दूरी तय कर 917 टन मेडिकल और आवश्यक कार्गो का परिवहन किया
  • पिछले 24 घंटों में कुल 1.08+ लाख नमूनों का परीक्षण किया गया। कुल परीक्षणों की संख्या 29.43+ लाख के पार: आईसीएमआर
  • गृह मंत्रालय ने विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों और भारत में फंसे विदेश जाने को इच्छुक व्यक्तियों के लिए SOP जारी किया
  • इग्नू, एमएचआरडी अपने ओडीएल (ओपन एंड डिस्टेंस लर्निंग) कोर्सेज के 59 पाठ्यक्रमों को ऑनलाइन पाठ्यक्रमों में परिवर्तित करेगा
  • कोविड-19 से संबंधित मदद, मार्गदर्शन और कार्रवाई के लिए राष्ट्रीय हेल्पलाइन नंबर 1075 पर कॉल करें
  • तथ्य: आरोग्य-सेतु ऐप में कोई इनबिल्ट सायरन नही है, कोविड-19 मरीज के संपर्क में आने पर यह आपको अलर्ट देता है

सावधान! कोरोना की आड़ में अपराध का नया फॉर्मूला, इंटरपोल ने चेताया

इन दिनों कोरोना वायरस के कहर से पूरी दुनिया बेबस हो गई है. लेकिन कोई ऐसा भी है जो आपकी बेबसी का फायदा उठाने की फिराक में जुटा हुआ है. Covid-19 की आड़ लेकर अपराध के नये-नये फॉर्मूले ईजात किए जा रहे हैं. जिसके लिए इंटरपोल ने बाकायदा चेतावनी जारी की है.

सावधान! कोरोना की आड़ में अपराध का नया फॉर्मूला, इंटरपोल ने चेताया

नई दिल्ली: इस वक्त अगर आप ये सोच रहे हैं कि कोरोना ही पूरी दुनिया के लिए सबसे बड़ी और एकमात्र चुनौती है तो सावधान हो जाइये क्योंकि कोरोना की आड़ में जिस खतरे को इंटरपोल ने भांप लिया है वो हमारी और आपकी सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी है.

कोरोना की आड़ में अपराध का नया फॉर्मूला

इंटरपोल ने जानकारी दी है कि दुनिया भर में में Covid-19 की आड़ में बदमाशों ने अपराध करने के नये-नये तरीके ढूंढ निकाले है.

इंटरपोल ने जारी की अहम चेतावनी

इंटरपोल ने जो चेतावनी जारी की है उसके मुताबिक अपराधी अब फर्जी Website, Domain, Malaware के जरिये अस्पताल के सिस्टम को Hack कर सकते है और फिर फिरौती देने के बाद ही सिस्टम को Release करेंगे क्योंकि अस्पताल में मरीजों से जुड़ी अहम फाइल हो सकती है या मशीन को कंप्यूटर के जरिये चलाया जाता है तो दिक्कत आ सकती है, इसी के जरिये Cyber Criminals लोगों को लूट सकते है.

हेल्थ डिपार्टमेंट से जुड़े लोगों को नकली PPE- Personal Protective Equipment बेच सकते है. जरूरी दवाइयों के नाम पर धोखाधडी कर सकते हैं। इस मौके का फायदा उठा कर ड्रग्स तस्करी कर सकते है. लोन देने के नाम पर या सस्ती EMI के नाम से धोखाधड़ी कर सकते हैं.

इन जानकारियों के बाद CBI ने देशभर की पुलिस प्रमुख को चिट्ठी लिख कर साइबर क्राइम के बारे में सचेत रहने के लिये कहा है. भारत में CBI इंटरपोल की नोडल एजेंसी है, इसलिये इंटरपोल ने CBI के जरिये भारत की पुलिस को Cyber Attack से सचेत रहने के लिये कहा है.

ठगों ने अपना लिया 'ये' नया तरीका

इंटरपोल की चेतावनी से डरना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि ईएमआई टालने के नाम पर देश में साइबर क्राइम पहले ही शुरू हो चुके हैं. कोरोना संकट के चलते लॉकडाउन में हालत को देखते हुए RBI ने बैंक के लोन से राहत देने के लिए तीन महीने की EMI टालने का विकल्प दिया है. जिसके बाद ठगों ने इन दिनों एक नया तरीका अपनाया है वो लोगों की ईएमआई टालने के नाम पर ये फोन करने लगें हैं और ठगी के खेल को अंजाम देना शुरू कर चुके हैं.

इसे भी पढ़ें: मोदी विरोध की मीडियाना साजिश: इन्डो-अमेरिका सम्बन्ध बिगाड़ने की कोशिश

लोगों को इन सारे अपराधों से बचाने के लिए बैंक और पुलिस दोनों की तरफ एडवाइजरी भी जारी की गयी है और जी मीडिया भी आपसे यही अपील करता है कि कोरोना के साथ-साथ ऐसे साइबर क्रिमिनल्स से भी खुद को बचाकर रखिए.

इसे भी पढ़ें: आपके हर सवाल का माकूल जवाब! जानिए, लॉकडाउन से जुड़ी 10 बड़ी बातें

इसे भी पढ़ें: कोरोना के खिलाफ सेना की 'स्ट्राइक'! शूरवीर जवानों की देशभक्ति को सलाम

इसे भी पढ़ें: कोरोना को मुकाबला करने के लिए अरविंद केजरीवाल का T-5 प्लान

इसे भी पढ़ें: संकटकाल में कोरोना के खिलाफ युद्ध में ZEE ग्रुप ने बढ़ाया हाथ