झारखंड में सरकार बनाने के लिये JMM ने तेज की कवायद

झारखंड मुक्ति मोर्चा की अगुवाई वाले तीन दलों के गठबंधन ने 81 सदस्यीय राज्य विधानसभा चुनाव में सोमवार को बहुमत हासिल कर लिया. इसके बाद अब सरकार के गठन को लेकर गतिविधियां तेज हो गयी हैं.  

झारखंड में सरकार बनाने के लिये JMM ने तेज की कवायद

रांची: झारखंड में भाजपा की हार के बाद और JMM के नेतृत्व वाले गठबंधन की जीत के बाद राज्य में सरकार बनाने के लिये सरगर्मियां तेज हो गयी हैं. सोमवार को आए नतीजों में भाजपा को 25 और JMM, कांग्रेस, राजद के गठबंधन को कुल 47 सीटों पर जीत मिली है. 

 हेमंत सोरेन 27 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की लेंगे शपथ 

प्राप्त जानकारी के मुताबिक हेमंत सोरेन 27 दिसंबर को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. विधायकदल का नेता चुनने के लिए मंगलवार को शिबू सोरेन के आवास पर बैठक होगी. जहां हेमंत सोरेन को विधायक दल का नेता चुना जाएगा. ख़बर ये भी है कि कांग्रेस ने डिप्टी सीएम के पद की मांग की है, हालांकि अभी इस पर फिलहाल कोई भी आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है.

रघुवरदास ने दिया इस्तीफा

चुनावों में हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए रघुवरदास ने मुख्यमंत्री पद से त्याग पत्र दे दिया है.  रघुवर दास ने कहा कि ये मेरी व्यक्तिगत हार है. यह भाजपा की हार नहीं है. बता दें राज्य में पहली बार पूरे पांच साल मुख्यमंत्री का कार्यकाल पूरा करने वाले रघुवर दास जमशेदपुर पूर्वी सीट से हार गए हैं. उन्हें निर्दलीय उम्मीदवार और भाजपा के बागी सरयू राय से करारी शिकस्त मिली है.

भाजपा को हुआ आंतरिक कलह का नुकसान

झामुमो को सत्ता के शिखर पर पहुंचने के लिए इस बार बहुत मशक्कत नहीं करनी पड़ी. आधा काम कांग्रेस और राजद के एक साथ आने की वजह से और भाजपा में आपसी कलह की वजह से आसान हो चुका था. भाजपा के अंदर चुनाव के दौरान हुई कलह और पुराने पार्टी नेताओं का पार्टी का साथ छोड़ देना सीधे तौर पर महागठबंधन को फायदा पहुंचा गया.

ये भी जानें- झारखंड चुनाव: JMM के वह पांच दांव जिससे चित हो गई भाजपा