कोरोना काल में फिल्मों की OTT रिलीज ने कर दी अदिति राव हैदरी की आंखें नम

अदिति राव हैदरी (Aditi Rao Hydari) का कहना है कि लॉकडाउन ने डिजिटिल प्लेटफॉर्म्स की अहमियत समझाई है. अदिति ने भी पिछले साल मलयालम फिल्म 'सूफियम सुजातायम' से डिजिटल डेब्यू किया था.

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 25, 2021, 05:51 PM IST
  • कोरोना काल में बॉलीवुड के कई सितारों ने डिजिटल प्लेटफॉर्म का रुख किया है
  • अदिति राव हैदरी का कहना है कि लॉकडाउन ने OTT की अहमियत समझाई है.
कोरोना काल में फिल्मों की OTT रिलीज ने कर दी अदिति राव हैदरी की आंखें नम

नई दिल्ली: कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से 2020 में लगे लॉकडाउन (Lockdown) के समय ज्यादातर दर्शकों ने डिजिटल प्लेटफॉर्म (Digital Platform) का रुख किया था. दर्शको में OTT प्लेटफॉर्म के लिए दिलचस्पी को देखते हुए कई मशहूर हस्तियों ने भी यहां रुख करना शुरू कर दिया. अब इसे लेकर अदिति राव हैदरी (Aditi Rao Hydari) का कहना है कि लॉकडाउन ने डिजिटिल प्लेटफॉर्म्स की अहमियत समझाई है.

फिर डिजिटल प्लेटफॉर्म पर दिखेंगी अदिति

दरअसल, अदिति ने भी पिछले साल मलयालम फिल्म 'सूफियम सुजातायम' से डिजिटल डेब्यू किया था. इसके बाद वह अभिनेता नानी के अभिनय से सजी तेलुगु एक्शन फिल्म 'फ्लिक वी' में भी नजर आई थीं. अब एक बार फिर से अदिति OTT प्लेटफॉर्म पर नजर आने के लिए तैयार हैं. इस बार वे फिल्म 'द गर्ल ऑन द ट्रेन' में बॉलीवुड परिणीति चोपड़ा के साथ स्क्रीन शेयर करेंगी.

ये भी पढ़ें- हिमांशी खुराना बनने वाली थीं जॉन अब्राहम की पत्नी, सिर्फ इस वजह से ठुकरा दिया ऑफर

OTT रिलीज पर अदिति की आंखों में आ गए थे आंसू

OTT को लेकर अदिति ने कहा, "OTT का अनुभव मैंने साल 2020 में लिया, जब मेरी 2 फिल्में ओटीटी प्लेटफार्म्स पर रिलीज हुईं. इस अहसास ने मेरी आंखों में आंसू ला दिए थे कि कैसे एक क्लिक पर लोग मेरी फिल्में देख रहे हैं.

उस समय लोगों को कहानियों और कंटेंट की जरूरत थी. थिएटर की बात करें तो मुझे उनसे प्यार है. हम सब थिएटर में फिल्में देखकर ही बड़े हुए हैं. वहां फिल्में देखने का अलग रोमांच है."

OTT को बढ़ाने में लॉकडाउन का योगदान

अदिति का मानना है कि OTT प्लेटकफॉर्म को इतना अहम बनाने में लॉकडाउन का सबसे बड़ा योगदान है. वह कहती हैं, "मुझे लगता है कि लॉकडाउन ने हमें ओटीटी प्लेटफार्म की अहमियत समझाई है. लॉकडाउन के दौरान ये हमारे सबसे अच्छे दोस्त रहे हैं."

फिल्म की कहानी रखती है महत्व

अदिति ने आगे कहा, "आज मैं विश्वास से कह सकती हूं कि अब इस बात से फर्क नहीं पड़ता है कि आपकी फिल्म किस प्लेटफॉर्म पर रिलीज हो रही है. बल्कि फिल्म की कहानी और कंटेंट महत्व रखता है. उस फिल्म को बनानें में कितना समय दिया गया और मेहनत की गई. बाकी हर फिल्म की अपनी किस्मत होती है कि कुछ OTT प्लेटफॉर्म के लिए बनी होती हैं, तो कुछ सिनेमाघरों के लिए."

ये भी पढ़ें- Divya Bharti Special: सेट पर हुआ था अजीब हादसा, क्या पहले ही हो चुका था मौत का आभास?

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़