कोरोना से जंग को तैयार DRDO का हथियार, आज से लोगों को मिलेगी 2-डीजी एंटी कोरोना मेडिसिन

DRDO की 2-डीजी एंटी-मेडिसिन वायरस से प्रभावित सेल्स में जाकर जम जाती है और वायरस सिंथेसिस और एनर्जी प्रोडक्शन को रोककर वायरस के प्रसार को रोक देती है.   

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : May 17, 2021, 11:46 AM IST
  • आज से लोगों के लिए उपलब्ध होगी 2-डीजी एंटी कोरोना मेडिसिन
  • जानिए कैसे काम करती है 2-डीजी एंटी कोरोना मेडिसिन
कोरोना से जंग को तैयार DRDO का हथियार, आज से लोगों को मिलेगी 2-डीजी एंटी कोरोना मेडिसिन

नई दिल्ली: देश में कोरोना एंटी-मेडिसिन के खिलाफ जंग में DRDO की 2-डीजी एंटी-मेडिसिन भी शामिल हो गई है. कोरोना वैक्सीन के बाद यह एंटी कोरोना मेडिसिन भी कोरोना के इलाज में प्रयोग की जाएगी. 

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह इस एंटी-मेडिसिन के पहले बैच को सोमवार सुबह जारी कर दिया है. सबसे पहले देश की राजधानी दिल्ली में इस दवा की 10 हजार डोज उपलब्ध कराई जाएंगी. 

आठ मई को मिली थी एंटी-मेडिसिन को मंजूरी

DRDO द्वारा तैयार की गई 2-डीजी एंटी-मेडिसिन को भारत के औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) द्वारा इसके इमरजेंसी इस्तेमाल के लिए 8 मई को मंजूरी दे दी गई थी. 

इस एंटी-मेडिसिन को लेकर DRDO ने यह दावा किया है कि ग्लूकोज पर आधारित इस 2-डीजी एंटी-मेडिसिन को लगवाने के बाद तबियत खराब होने पर भी लोगों की ऑक्सीजन पर निर्भरता कम होगी. 

यह भी पढ़िए: क्या है वैक्सीन पासपोर्ट? जानिए इससे जुड़ी सभी बातें जो आपके लिए जानना जरूरी है

कैसे काम करती है यह एंटी कोरोना मेडिसिन

DRDO की 2-डीजी एंटी-मेडिसिन वायरस से प्रभावित सेल्स में जाकर जम जाती है और वायरस सिंथेसिस और एनर्जी प्रोडक्शन को रोककर वायरस के प्रसार को रोक देती है. 

इस एंटी-मेडिसिन को लेकर DRDO ने यह भी बताया है कि जिन मरीजों को यह एंटी-मेडिसिन दी आगी थी, उन्हें कोरोना होने के बाद उनकी RT-PCR रिपोर्ट बहुत जल्दी निगेटिव आ गई. 

DRDO ने बीते साल के अप्रैल महीने में ही इस एंटी-मेडिसिन पर काम शुरू कर दिया था. 

क्या होगी इस एंटी-मेडिसिन की कीमत

DRDO की 2-डीजी एंटी-मेडिसिन एक सैशे के रूप में उपलब्‍ध होगी. इसे आप ORS की तरह पानी में घोलकर पी सकते हैं. 

कोरोना मरीजों को यह दवा दिन में दो बार लेनी चाहिए. इस दवा के 5 से 7 दिन लगातार सेवन से कोरोना मरीज पूरी तरह से ठीक हो सकता है.

अभी इस दवा की कीमत को लेकर कुछ भी नहीं कहा जा सकता. सूत्रों के मुताबिक, इस दवा के एक सैशे की कीमत 500 से 600 रुपये के बीच हो सकती है. 

यह भी पढ़िए: इजरायल ने जब दुनियाभर में 20 साल तक खेली खून की होली, हर मौत पर लिखा- हम माफ नहीं करते

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

 
 

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़