Farmers Movement: मांग मनवाने पर अड़े किसान, मोदी सरकार के खिलाफ जंग की तैयारी

MSP के मुद्दे पर किसान मोदी सरकार की कोई भी सुनने और मानने को राजी नहीं हैं. कृषि मंत्री से मुलाकात के बावजूद पंजाब और हरियाणा से और अधिक किसान दिल्ली कूच करने की तैयारी में हैं.

Farmers Movement: मांग मनवाने पर अड़े किसान, मोदी सरकार के खिलाफ जंग की तैयारी

नई दिल्ली: देश भर के किसान मोदी सरकार द्वारा बनाये कृषि कानूनों (Agricultural Bills) के खिलाफ आगबबूला हो रहे हैं. राजधानी दिल्ली में किसानों ने डेरा जमाना भी शुरू कर दिया है. समय के साथ ये किसान आंदोलन और भी उग्र और आक्रामक होता जा रहा है. MSP के मुद्दे पर किसान मोदी सरकार की कोई भी सुनने और मानने को राजी नहीं हैं. कृषि मंत्री से मुलाकात के बावजूद पंजाब और हरियाणा से और अधिक किसान दिल्ली कूच करने की तैयारी में हैं.

कम नहीं हो रहा किसानों का गुस्सा

आपको बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से वार्ता प्रस्ताव के बाद भी 6 दिनों से चल रहा किसान आंदोलन थमता नहीं दिख रहा है. एक तरफ पंजाब के खेल जगत के नामी सितारे किसानों के समर्थन में आ गए हैं तो दूसरी तरफ पंजाब और ​हरियाणा से और किसान दिल्ली आने की तैयारी कर रहे हैं. किसानों द्वारा जाम की गई दिल्ली की सड़कों पर किसानों की तादाद बढ़ने वाली है, जिससे दिल्ली के लोगों की मुसीबतें भी बढ़ जाएंगी.

पूरी तैयारी के साथ आंदोलन कर रहे किसान

आपको बता दें कि पंजाब और हरियाणा की पंचायतों की अपील पर सैकड़ों किसान लोगों से राशन, दवाइयां और जरूरत के अन्य सामान इकट्ठा कर रहे हैं. किसानों ने मन बनाया है कि वे अभी कई दिनों तक मोदी सरकार के खिलाफ आंदोलन करते रहेंगे. किसान अपने दैनिक जीवन के प्रयोग वाले सामान को साथ रख रहे हैं ताकि उनके अभियान पर कोई बुरा असर न पड़े. इन सामानों को ट्रैक्टरों पर लादा जा रहा है जो बुधवार से दिल्ली के लिए रवाना होने शुरू होंगे.

क्लिक करें-  मात्र इतने रुपये में मिल रही हैं बाइक, जल्दी करें वरना निकल जायेगा सुनहरा मौका

कृषि कानूनों के विरोध में उतरे कई खिलाड़ी

आपको बता दें कि पंजाब के कई नामी खिलाड़ियों ने किसानों के समर्थन में बिगुल फूंक दिया है. देश की राजधानी दिल्ली की सीमा पर हजारों किसान पिछले पांच दिनों से धरना पर डटे हैं और आज उनके प्रदर्शन का छठा दिन है. जालंधर के दर्जन भर सम्मानित और सीनियर खिलाड़ियों ने सरकार को चेतावनी दी है कि अगर 5 दिनों के भीतर कृषि कानून रद्द नहीं किए गए तो वह विरोध स्वरूप अपने मेडल और सम्मान वापस कर देंगे.

क्लिक करें-  Shehla Rashid से Kangana ने ये क्यों कह दिया, 'मैं तो पैदाइशी मूर्ख हूं..'

बेनतीजा रही कृषि मंत्री के साथ बैठक

उल्लेखनीय है कि मोदी सरकार के तीन नए कृषि कानूनों को लेकर दिल्ली के विज्ञान भवन में सरकार और किसान संगठनों के बीच चली बैठक मंगलवार शाम को खत्म हो गई. बैठक में कोई भी नतीजा नहीं निकल सका है और फिर से तीन दिसंबर को बातचीत होगी. 

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ पंजाब और हरियाणा से आए हजारों किसानों का पिछले पांच दिनों से हल्ला बोल जारी है.  किसान संगठनों के साथ बैठक के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि बैठक अच्छी रही और हमने फैसला लिया है कि फिर से 3 दिसंबर को बातचीत होगी.

देश और दुनिया की हर एक खबर अलग नजरिए के साथ और लाइव टीवी होगा आपकी मुट्ठी में. डाउनलोड करिए ज़ी हिंदुस्तान ऐप, जो आपको हर हलचल से खबरदार रखेगा... नीचे के लिंक्स पर क्लिक करके डाउनलोड करें- Android Link - https://play.google.com/store/apps/details?id=com.zeenews.hindustan&hl=e... iOS (Apple) Link - https://apps.apple.com/mm/app/zee-hindustan/id1527717234