ज्योतिष समाधानः दांत दर्द और करियर में बाधा तो क्या है उपाय

कुंडली में बुध ग्रह के कमजोर होने पर दांत की समस्या बनी रहती है. वहीं अगर आपकी कुंडली मीन लग्न की है और राशि धनु है, तो ऐसे में करियर के घर में राहु बैठने से परेशानी होती है.  

Written by - Zee Hindustan Web Team | Last Updated : Feb 28, 2021, 07:00 AM IST
  • बुध हो कमजोर तो बुधवार को गाय को हरा चारा खिलाएं
  • पानी में चंदन का इत्र डालकर स्नान करें, राहु होंगे प्रसन्न
ज्योतिष समाधानः दांत दर्द और करियर में बाधा तो क्या है उपाय

नई दिल्लीः जीवन है तो इसमें उतार-चढ़ाव तो लगे ही रहते हैं. आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में हर व्यक्ति किसी न किसी समस्या से परेशान रहता ही है. सनातन परंपरा और ज्योतिष कहता है कि हमारे जीवन पर ग्रह-नक्षत्रों का प्रभाव पड़ता है और इनकी चाल बदलती है तो हमारे जीवन में कभी सुख आते हैं तो कभी दुख.

ऐसे में अगर आप किसी समस्या से पीड़ित हैं और इसका समाधान नहीं निकल रहा है तो एक बार ज्योतिष का नजरिया अपना कर देखिए. ऐसे ही कुछ समस्याओं और ज्योतिष उपायों को बता रहे हैं आचार्य विक्रमादित्य-

अगर दांत का दर्द करे परेशान

कुंडली में बुध ग्रह के कमजोर होने पर दांत की समस्या बनी रहती है. ऐसे में अगर आप इससे छुटकारा पाना चाहते हैं तो बुधवार के दिन गाय को हरा चारा खिलाएं. इसके साथ ही फिटकरी का उपयोग करें. फिटकरी से दांत का दर्द दूर होता है. ब्राह्मण को हरी सब्जियों का दान करें. हर रोज ऊँ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: मंत्र का जप करें.

ये भी पढ़ें- सपने में खुद को गिरते देखा है तो जरूर करा लें Health Checkup!

करियर-पेशे में बार-बार काम अटक रहे हैं, कब होगा सुधार

अगर आपकी कुंडली मीन लग्न की है और राशि धनु है, तो ऐसे में करियर के घर में राहु बैठने से परेशानी होती है. राहु को खुश करने की कोशिश करें. इसके लिए पानी में चंदन का इत्र डालकर स्नान करें.

हर शनिवार पीपल के पेड़ पर जल चढ़ाएं. इस तरह आप अपने करियर में आने वाली रुकावटों को दूर कर पाएंगें. अगर आप पेशे से ठेकेदार हैं और आपकी कुंडली इस तरह की है तो यह उपाय आपके लिए सटीक होगा.

ये भी पढ़ें- माघ मेला कल्पवास, जो पहले मुगलों और फिर अंग्रेजों की कमाई का जरिया बना

मंदिर में किस भगवान को कौन सा फूल चढ़ाएं

गणेश भगवान को दुर्वा प्रिय है, तुसली उन पर नहीं चढ़ाते हैं. भगवान शिव को धतूरा, सफेद फूल, कनेर, कुश प्रिय है लेकिन केतकी और केवड़ा नहीं चढ़ाते हैं.

भगवान विष्णु को तुलसी, कमल, मौलश्री, जूही, कदंब, केवड़ा प्रिय है. लेकिन भगवान विष्णु को धतूरा, शिरीष, सहजन, सेमल, कचनार नहीं चढ़ाते हैं. मां भगवती को बेला, सफेद कमल, पलाश और गेंदा पसंद है. उन्हें दूर्वा नहीं चढ़ाते हैं. हनुमान जी को पारिजात, हारश्रृंगार, लाल फूल, गेंदा प्रिय है.

ये भी पढ़ें- आज सपने में देखा है बकरा तो संभल जाएं, हो सकता है ये अशुभ

Zee Hindustan News App: देश-दुनिया, बॉलीवुड, बिज़नेस, ज्योतिष, धर्म-कर्म, खेल और गैजेट्स की दुनिया की सभी खबरें अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें ज़ी हिंदुस्तान न्यूज़ ऐप.

ज़्यादा कहानियां

ट्रेंडिंग न्यूज़