close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत को सौंपा तो आत्महत्या कर लूंगा- नीरव मोदी

नई जमानत याचिका बुधवार को खारिज होने के बाद नीरव को तगड़ा झटका लगा है. नीरव ने मुचलके के तौर पर 40 लाख पाउंड की भारी धनराशि का भुगतान करने के साथ ही संदिग्ध आतंकवादियों के समान निगरानी में रखे जाने की पेशकश की थी लेकिन अदालत ने उसकी दलील को अनसुना कर दिया.

भारत को सौंपा तो आत्महत्या कर लूंगा- नीरव मोदी

नई दिल्लीः पंजाब नेशनल बैंक से 13 हजार करोड़ का कर्ज लेकर लंदन भागे नीरव मोदी ने आत्महत्या की धमकी दी है. नीरव मोदी ने कोर्ट में कहा है कि अगर उसे भारत को प्रत्यर्पित किया जाता है तो वह आत्महत्या कर लेगा. साथ ही उसने कहा कि उसे जेल में तीन बार पीटा गया. हालांकि इन सब दलीलों का अदालत पर कोई असर नहीं हुआ और उसकी जमानत याचिका खारिज कर दी गई. यूके की अदालत ने बुधवार को एक बार फिर खारिज कर दी है.  

अदालत की दो टूक- नहीं दे सकते जमानत
इके पहले कोर्ट ने कहा था कि वह उन्हें जमानत नहीं दे सकते हैं. सरकारी वकील ने तर्क रखा कि यह काफी नहीं है, नीरव मोदी 12 घंटे के लिए नज़रबंदी की बात नहीं कर रहे हैं. इसका मतलब है कि वह बाहर जा सकते हैं और सुरक्षा कर्मी के जाने के बाद भाग सकते हैं. नीरव मोदी के वकीलों ने यह भी कहा कि नीरव मोदी इस बात से दुखी हैं कि उनकी डॉक्टरों की रिपोर्ट लीक हो गई और उनकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है. जेल के अंदर स्थितियां और भी बदतर हो गईं और साथ ही उन्होंने यह भी बताया कि कैसे मोदी पर हमला किया गया था और अन्य कैदियोंकी ओर से जेल में उन्हें धमकी दी गई. मुख्य मजिस्ट्रेट एम्मा अर्बुटनोट ने सुनवाई करते हुए कहा कि चूंकि नीरव मोदी पर बड़ी धोखाधड़ी का मामला है, इसलिए वो ज़मानत नहीं दे सकतीं. और उनके पास बहुत सारा धन है जो उन्हें फरार बना सकता है.

एक और घोटालेबाज की 1600 करोड़ की संपत्ति हुई जब्त

वकील की मांग- न कहा जाए करोड़पति
49 वर्षीय नीरव वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट में अपने वकील हुगो कीथ क्यूसी के साथ पहुंचे थे. जमानत के लिए यह नीरव की पांचवीं अपील थी. कीथ ने दावा किया कि नीरव को वेंड्सवर्थ जेल में दो बार पीटा गया. कीथ ने कहा कि अप्रैल और फिर हाल ही में मंगलवार को उसे पीटा गया. कीथ ने कहा, कि कल सुबह नौ बजे के बिलकुल बाद जेल में ही बंद दो अन्य कैदी उसके सेल में आए. उन्होंने दरवाजा बंद करके उसे घूंसा मारा और जमीन पर गिराकर लातों से पीटा. इसके साथ ही उसे लूटने की भी कोशिश की. इस दौरान नीरव मोदी किसी से फोन पर बात कर रहे थे. यह हमला नीरव को खास तौर पर निशाना बनाकर किया गया था. कीथ ने डॉक्टर की नीरव के डिप्रेशन की कॉन्फिडेंशल रिपोर्ट के लीक हिस्से का जिक्र करते हुए यह बातें कहीं. उन्होंने कहा कि जेल अधिकारी इस हमले पर कोई ऐक्शन नहीं ले पाए और किसी परामर्शदाता से मिलने की नीरव के अनुरोध को भी ठुकरा दिया गया. कीथ ने कहा, अगर नीरव मोदी को प्रेस में करोड़पति हीरा व्यापारी कहा जाता रहा तो इस तरह के हमले आगे भी होते रहेंगे. नीरव ने कहा कि अगर उसे भारत भेजे जाने का फैसला दिया गया होता तो वह खुद को खत्म कर लेता.

जेल में कटेगी घोटालेबाज शशिकला की जिंदगी

19 मार्च को हुए थे गिरफ्तार
नीरव मोदी को लंदन के होल्बोर्न इलाक़े से 19 मार्च को गिरफ़्तार किया गया था जिसके बाद उन्हें लंदन के वेस्टमिंस्टर कोर्ट में पेश किया गया था. वह करीब 7 महीने से लंदन की वांड्सवर्थ जेल में हैं. लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर मजिस्ट्रेट कोर्ट ने उनके खिलाफ वॉरेंट जारी किया था जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया था. मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक से करीब 13 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लेकर न चुकाने के आरोप हैं. इसे भारत का सबसे बड़ा बैंक घोटाला भी माना जाता है. भारत ने ब्रिटेन से नीरव मोदी को प्रत्यर्पित करने की मांग भी की है. नीरव मोदी 2018 से ब्रिटेन में हैं.

रोजवैली घोटाला मामले के आरोपियों के खिलाफ सीबाई की जांच जारी