close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर बोले आनंद महिंद्रा, तब हम गरीब होकर भी अमीर थे क्योंकि हमारे पास बापू थे

भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने गुरुवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया. इसके बाद देशभर में राजनीति गर्मा गई.

प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर बोले आनंद महिंद्रा, तब हम गरीब होकर भी अमीर थे क्योंकि हमारे पास बापू थे

नई दिल्ली : भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर ने गुरुवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताया. इसके बाद देशभर में राजनीति गर्मा गई. कुछ घंटे बाद ही साध्वी ने अपना बयान वापस लेते हुए माफी मांग ली. लेकिन अभी भी साध्वी की तरफ से गोडसे को देशभक्त बताए जाने पर बयानबाजी कम नहीं हो रही है.

बिजनेसमैन आनंद महिंद्रा ने भी निशाना साधा
दरअसल देवास संसदीय सीट पर पार्टी उम्मीदवार महेन्द्र सोलंकी के समर्थन में रोडशो कर रही प्रज्ञा ठाकुर ने एक सवाल के जवाब में स्थानीय न्यूज चैनल से कहा, 'नाथूराम गोडसे देशभक्त थे, हैं और रहेंगे. गोडसे को आतंकी बोलने वाले खुद के गिरेबान में झांककर देखें. अबकी बार चुनाव में ऐसा बोलने वालों को जवाब दे दिया जाएगा.' इसके बाद से ही प्रज्ञा ठाकुर लगातार सोशल मीडिया पर आलोचना का सामना कर रही हैं. अब प्रज्ञा ठाकुर के बयान पर मशहूर बिजनेसमैन आनंद महिंद्रा ने भी निशाना साधा है.

कुछ चीजों को हमेशा पवित्र रहना चाहिए
महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा '75 साल से भारत महात्माओं की भूमि रहा है. जब दुनिया ने अपनी नैतिकता खो दी थी, हमें गरीबी में धकेल दिया गया. लेकिन हम तब भी अमीर थे क्योंकि हमारे पास बापू थे. बापू ने दुनियाभर में अरबों लोगों को प्रभावित किया. कुछ चीजों को हमेशा पवित्र रहना चाहिए. अन्यथा हम, हमें प्रेरित करने वाली या शक्ति देनी वाली मूर्तियों को तबाह करते हुए एक दिन तालिबान बन जाएंगे.'

साध्वी प्रज्ञा ठाकुर, pragya thakur, anand mahindra, आनंद महिंद्रा

साध्वी के बयान पर मचा बवाल
साध्वी के बयान को लेकर पूरे देश में बवाल में मच गया. पार्टी ने आनन-फानन में बयान जारी कर कहा कि वह प्रज्ञा के बयान से सहमत नहीं है. बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्‍हा राव ने अपने बयान में कहा कि भाजपा उनके बयान से सहमत नहीं है और इसकी निंदा करती है और पार्टी उनसे स्‍पष्‍टीकरण मांगेगी. गुरुवार देर रात साध्वी ने अपने बयान पर माफी मांगते हुए कहा 'अपने संगठन बीजेपी में निष्ठा रखती हूं. उसकी कार्यकर्ता हूं और पार्टी की लाइन ही मेरी लाइन है.'