close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

10 महीने में सबसे ज्‍यादा महंगा हुआ पेट्रोल, डीजल का रेट भी बढ़ा, जानिए आज का भाव

Petrol-Diesel Price : सऊदी अरामकों के प्लांट पर ड्रोन हमला होने के करीब 10 दिन बाद भी घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल के रेट (Petrol-Diesel Price) में तेजी का सिलसिला जारी है. दुनियाभर में तेल आपूर्ति घटने से तेल के रेट में सबसे ज्यादा असर एशियाई बाजारों में देखने को मिल रहा है.

10 महीने में सबसे ज्‍यादा महंगा हुआ पेट्रोल, डीजल का रेट भी बढ़ा, जानिए आज का भाव

नई दिल्ली : सऊदी अरामकों के प्लांट पर ड्रोन हमला होने के करीब 10 दिन बाद भी घरेलू बाजार में पेट्रोल-डीजल के रेट (Petrol-Diesel Price) में तेजी का सिलसिला जारी है. दुनियाभर में तेल आपूर्ति घटने से तेल के रेट में सबसे ज्यादा असर एशियाई बाजारों में देखने को मिल रहा है. भारतीय बाजार में लगातार सातवें दिन पेट्रोल-डीजल के रेट (Petrol-Diesel Price) में तेजी दिखाई दी. सोमवार सुबह पेट्रोल के रेट 29 पैसे प्रति लीटर की तेजी के साथ 73.91 रुपये प्रति लीटर और डीजल 19 पैसे प्रति लीटर की तेजी के साथ 66.93 रुपये के स्तर पर पहुंच गया.

सात दिन में 1.90 रुपये की तेजी
पिछले करीब 10 महीने में पेट्रोल का यह सबसे ज्यादा रेट है. इससे पहले 27 नवंबर 2018 को दिल्ली में पेट्रोल 74.07 रुपये के स्तर पर बिका था. पिछले सात दिन में ही पेट्रोल के रेट में 1.90 रुपये प्रति लीटर और डीजल में 1.40 रुपये प्रति लीटर की तेजी आ चुकी है. इससे पहले रविवार को पेट्रोल में 27 पैसे और डीजल में 21 पैसे की तेजी आई थी.

आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के रेट
सोमवार सुबह पेट्रोल का भाव बढ़कर कोलकाता, मुंबई और चेन्नई में क्रमश: 76.60 रुपये, 79.57 रुपये और 76.84 रुपये के स्तर पर पहुंच गए. वहीं डीजल का रेट भी क्रमश: 69.35 रुपये, 70.22 रुपये और 70.77 रुपये के स्तर पर पहुंच गए. जानकारों का कहना है आने वाले दिनों में क्रूड के भाव में और तेजी आने की संभावना है. इसका असर लगातार घरेलू बाजार में भी देखने को मिल रहा है.

शुक्रवार सुबह ब्रेंट क्रूड तेजी के साथ 63.79 डॉलर प्रति बैरल और डब्ल्यूटीआई क्रूड 58.65 डॉलर प्रति बैरल के स्तर पर पहुंच गया. आपको बता दें पांच जुलाई को पेश हुए आम बजट में पेट्रोल और डीजल पर एक्साइज ड्यूटी और सेस लगाया गया था. इसके बाद दोनों की कीमत में डेढ़ से ढाई रुपये प्रति लीटर की तेजी आई थी.