close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आम चुनाव की अनिश्चितताओं को लेकर निवेशकों में संशय, Sensex 204 अंक टूटा

कारोबार के दौरान सेंसेक्स नीचे-ऊपर 37,047.87 से 37,559.67 अंक के दायरे में रहा. आखिरकार यह 37,114.88 अंक पर बंद हुआ.

आम चुनाव की अनिश्चितताओं को लेकर निवेशकों में संशय, Sensex 204 अंक टूटा
वैश्विक स्तर पर ब्रेंट कच्चा तेल 0.66 प्रतिशत टूटकर 70.77 डॉलर प्रति बैरल पर था. (फाइल)

मुंबई: लगातार नौ दिनों तक शेयर मार्केट में गिरावट के बाद 14 मई यानी मंगलवार को उछाल दर्ज किया गया था. 11वें दिन (बुधवार) को एकबार फिर से Sensex में गिरावट दर्ज की गई. बंबई शेयर बाजार का प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स बुधवार को मिले-जुले वैश्विक रुख के बीच उतार चढ़ाव भरे कारोबार में 203.65 अंक टूट गया. अमेरिका-चीन व्यापार युद्ध तथा भारत में आम चुनावों से जुड़ी अनिश्चितता की वजह से निवेशक आशंका में हैं. 

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स करीब 500 अंक घूमने के बाद अंत में 203.65 अंक या 0.55 प्रतिशत की गिरावट के साथ 37,114.88 अंक पर आ गया. कारोबार के दौरान सेंसेक्स नीचे-ऊपर 37,047.87 से 37,559.67 अंक के दायरे में रहा. वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 65.05 अंक या 0.58 प्रतिशत के नुकसान से 11,157 अंक पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह 11,136.95 अंक के निचले स्तर तक आया और इसने 11,286.80 अंक का उच्चस्तर भी छुआ. 

इतने लाख करोड़ का है शेयर बाजार, केवल मई महीने में निवेशकों के डूबे 7 लाख करोड़ 

शेयर बाजार मंगलवार को नौ दिन तक लगातार गिरावट के बाद लाभ में रहा था. विशेषज्ञों का कहना है कि निवेशक अभी अपने पोर्टफोलियो का विस्तार करने से कतरा रहे हैं और प्रत्येक तेजी के बाद वे मुनाफा काट रहे हैं. सेंसेक्स की कंपनियों में सबसे अधिक नुकसान यस बैंक और टाटा मोटर्स में रहा और ये शेयर आठ प्रतिशत टूट गए. 

बजाज फाइनेंस का शेयर सबसे अधिक 4.11 प्रतिशत के लाभ में रहा
इंडसइंड बैंक, कोल इंडिया, सन फार्मा, पावरग्रिड, भारती एयरटेल, एक्सिस बैंक, टाटा स्टील, हिंदुस्तान यूनिलीवर, मारुति, एलएंडटी, महिंद्रा एंड महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी और रिलायंस इंडस्ट्रीज के शेयर भी 3.66 प्रतिशत तक नीचे आ गए. वहीं दूसरी ओर बजाज फाइनेंस का शेयर सबसे अधिक 4.11 प्रतिशत के लाभ में रहा. आईटीसी, कोटक बैंक, इन्फोसिस और टीसीएस के शेयर 1.05 प्रतिशत लाभ में रहे. 

यूरोपीय बाजार भी नुकसान में
शेयरखान बाय बीएनपी परिबा के प्रमुख (परामर्श) हेमांग जानी ने कहा कि वैश्विक वृद्धि तथा अमेरिका चीन व्यापार संबंधों को लेकर निवेशक आशंकित हैं. अमेरिका चीन व्यापार विवाद बढ़ने के बीच यूरोपीय बाजार भी नुकसान में हैं. जानी ने कहा कि ब्रेंट कच्चा तेल 70 डॉलर प्रति बैरल से ऊपर चल रहा है. कच्चे तेल के ऊंचे दाम की वजह से राजकोषीय घाटा प्रभावित हो सकता है और नयी सरकार को ढांचागत खर्च में कटौती करनी पड़ सकती है. 

FII ने मंगलवार को 2,011.85 करोड़ रुपये के शेयर बेचे
इस बीच, शेयर बाजारों के अस्थायी आंकड़ों के अनुसार विदेशी संस्थागत निवेशकों ने मंगलवार को 2,011.85 करोड़ रुपये के शेयर बेचे. वहीं घरेलू संस्थागत निवेशकों ने 2,242.91 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे. वैश्विक मोर्चे पर बाजारों में मिलाजुला रुख रहा. चीन, जापान और दक्षिण कोरिया के बाजार लाभ में रहा. यूरोपीय बाजार शुरुआती कारोबार में नुकसान में चल रहे थे. इस बीच, अंतर बैंक विदेशी विनिमय बाजार में दिन में कारोबार के दौरान डॉलर के मुकाबले रुपया 11 पैसे की बढ़त के साथ 70.33 प्रति डॉलर पर चल रहा था. वैश्विक स्तर पर ब्रेंट कच्चा तेल 0.66 प्रतिशत टूटकर 70.77 डॉलर प्रति बैरल पर था.