जानिए, आपके स्मार्टफोन में है कौन सी स्क्रीन और क्या है इसकी खासियत

स्मार्टफोन में टीएफटी, आईपीएस, ओलेड, एमोलेड कई तरह की स्क्रीन का इस्तेमाल होता है, इनकी अपनी विशेषता होती है. 

जानिए, आपके स्मार्टफोन में है कौन सी स्क्रीन और क्या है इसकी खासियत
(फाइल फोटो)

स्मार्टफोन में आए दिन कोई न कोई नई टेक्नोलॉजी आती रहती है. अक्सर जब आप स्मार्टफोन के फीचर्स देखते होंगे तो स्क्रीन के मामले में कन्फ्यूजन जरूर होती होगी. इनमें टीएफटी, आईपीएस, ओलेड, एमोलेड कई तरीके की स्क्रीन का इस्तेमाल होता है. इनमें हर स्क्रीन की अपनी कुछ खूबियां होती हैं जो फोन को खास बनाती हैं. आज हम आपको फोन में इस्तेमाल होने वाली स्क्रीन की विशेषताओं के बारे में बताने जा रहे हैं. 

टीएफटी (TFT)
स्मार्टफोन में टीएफटी इस्तेमाल किया जाता है. टीएफटी का मतलब होता है थिन फिल्म ट्रांजिस्टर. यह एलसीडी का एडवांस वर्जन है जो एक्टिव मैट्रिक्स का उपयोग करता है. इसमें हर पिक्सेल ट्रांजिस्टर और कैपेसिटर के साथ अलग से जुड़ा होता है. यह एलसीडी में बेहतर व्यू एंगल देती है. 

आईपीएस (IPS)
स्मार्टफोन में इस्तेमाल होने वाली आईपीएस डिस्प्ले का मतलब होता है इन प्ले स्विचिंग. इसमें कलर बाकि स्क्रीन से बेहतर होते हैं. यही वजह है कि यह स्क्रीन धूप में भी आसानी से दिखाई देती है. 

ओलेड (OLED)
ओलेड का मतलब होता है ऑर्गेनिक LED. इस स्क्रीन को रंगों का उत्पादन करने के लिए किसी भी प्रकाश की आवश्यकता नहीं होती है. इसलिए इससे बैटरी की खपत कम होती है. ओलेड स्क्रीन को उसके ब्राइट रूप से जाना जाता है. इसमें हरे रंग ज्यादा ब्राइट होते हैं. इसे किसी भी एंगल से देखने पर व्यू एक सा रहता है. जिन गैजेट्स में ओलेड स्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं वे अपेक्षाकृत हल्के होते हैं. 

एमोलेड (AMOLED)
एमोलेड स्क्रीन ओलेड स्क्रीन से एडवांस है. इसका मतलब होता है एक्टिव मैट्रिक्स ऑर्गेनिक एलईडी. यह स्क्रीन प्रत्येक पिक्सेल को नियंत्रित करती है. इसमें ओलेड  डिसप्ले के सभी गुण हैं जैसे बेहतर रंग, चमक, फास्ट रिस्पांस, हल्का वजन और डिजाइन. 

सुपर एमोलेड (SUPER AMOLED) 
इन दिनों हाई पिक्सेल रेजॉल्यूशन के साथ फोन में एचडी सुपर एमोलेड फोन दिखते हैं. लेकिन सैमसंग ने सुपर एमोलेड और सुपर अमॉल्ड प्लस स्क्रीन बनाया है. ओलेड स्मार्टफोन स्क्रीन सैमसंग बनाता है. दरअसल सुपर एमोलेड सैमसंग का अपने डिसप्ले को दिया नाम है जो केवल हाई एंड मॉडल में ही था. सुपर एमोलेड डिसप्ले ने टच रिस्पॉन्स लेयर को इंटिग्रेट करके बेसिक एमोलेड पर सुधार किया है. 

रेटीना 
रेटीना डिस्पले में पिक्सेल डेंसिटी 300 (पिक्सेल पर इंच) पीपीआई से ज्यादा होती है. रेटिना डिसप्ले को हर पिक्सेल के कॉर्नर को स्मूद बनाने के लिए डिज़ाइन किया है और पहले की तुलना में उच्च-गुणवत्ता दी गई है.  इसका प्रभाव कंटेंट, फोटो और वीडियो में दिखने को मिलता है. बेहतर व्यू के लिए इसमें आईपीएस टेक्नोलॉजी, स्क्रीन पर कैमिकल ग्लास, एलईडी बैकलाइटिंग और रेटीना डिस्प्ले का इस्तेमाल किया जाता है.