close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

World Cup 2019 मुकाबलों में फैसले देंगे ये 16 अंपायर, मिलती है इतनी सैलरी और फीस

टीमों ने इंटरनेशनल लेवल पर जो भी मैच जीते हैं उनमें इन अंपायरों की अंपायरिंग का बेहतर रिकॉर्ड रहा है.

World Cup 2019 मुकाबलों में फैसले देंगे ये 16 अंपायर, मिलती है इतनी सैलरी और फीस
बाएं से अंपायर अलीम डार, नाइजेल लॉन्ग, कुमार धर्मसेना और सुंदरम रवि.

नई दिल्ली: आमतौर पर क्रिकेट के टूर्नामेंट या लीग ज्यादातर खिलाड़ियों और उनकी टीमों के इर्द-गिर्द ही घूमते हैं. मगर मैच की सबसे जरूरी कड़ी यानी अंपायरों के बारे में सबसे कम बात की जाती है. अपने फैसलों से मुकाबलों की हार-जीत तय करने वाले अंपायरों का नाम सिर्फ तभी सुनाई पड़ता है जब उनकी तरफ से कोई गलती हो जाती है. वरना उनके रिकॉर्ड, करियर और सैलरी को लेकर बहुत ही कम चर्चा होती है. इस साल के आईसीसी क्रिकेट विश्व कप (ICC Cricket World Cup 2019) के लिए अनुभवी और प्रभावशाली अंपायरों का कुनबा तैयार है. टीमों ने इंटरनेशनल लेवल पर जो भी मैच जीते हैं उनमें इन अंपायरों की अंपायरिंग का बेहतर रिकॉर्ड रहा है. यहां उन सभी 16 अंपायरों की प्रोफाइल और सैलरी के बारे में जानेंगे, जो इस साल वर्ल्ड कप में नजर आने वाले हैं...

अलीम डार (Aleem Dar): पाकिस्तान के यह 50 वर्षीय अंपायर आईसीसी अंपायरों के एलीट पैनल के सदस्य हैं. उन्होंने 16 फरवरी 2000 को पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच एक दिवसीय मैच में अपना अंपायरिंग पदार्पण किया था. तब से, उन्होंने 125 टेस्ट, 200 वनडे और 43 टी20 में भाग लिया है. डार को सालाना $45000 रुपये (31,63,117 रुपये) वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं.

कुमार धर्मसेना (Kumar Dharmasena): 48 वर्षीय धर्मसेना पूर्व अंतर्राष्ट्रीय ऑफ ब्रेक गेंदबाज और 1996 में श्रीलंकाई टीम के एक प्रमुख खिलाड़ी थे, जिसने उस वर्ष विश्व कप जीता था. उन्होंने अपने अंपायरिंग की शुरुआत वर्ष 2009 में की थी और तब से 60 टेस्ट, 95 वनडे और 22 टी20 इंटनेशनल मुकाबलों में अंपायरिंग कर चुके हैं. धर्मसेना को सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये आईसीसी की तरफ से मिलते हैं.

मराइस इरास्मस (Marais Erasmus): दक्षिण अफ्रीका का यह 55 वर्षीय अंपायर भी आईसीसी अंपायरों के एलीट पैनल का सदस्य है.  मराइस ने ने 2006 में दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के बीच एक T20 मुकाबले से अपने अंपायरिंग की शुरुआत की. वर्ष 2017 में ICC अंपायर और लगातार दूसरे वर्ष डेविड शेफर्ड ट्रॉफी लेकर मराइस वाहवाही बटोर चुके हैं. उन्होंने 55 टेस्ट, 82 वनडे और 26 T20 मैचों में अंपायरिंग की है. मराइस को टेस्ट मैच में अंपायरिंग करने के लिए $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं. इसके अलावा उन्हें सालाना $35000 रुपये (करीब 24,60,202 रुपये) सैलरी के रूप में मिलते हैं.

क्रिस गफाने (Chris Gaffaney): क्रिकेटर से अंपायर बनने वाले न्यूजीलैंड के 43 वर्षीय क्रिस मौजूदा दौर में आईसीसी एलीट अंपायर पैनल के सदस्य हैं. उन्होंने अपना वनडे अंपायरिंग डेब्यू सितंबर 2010 में एक मैच में किया, जिसमें कनाडा और आयरलैंड के बीच टोरंटो में प्रदर्शन हुआ. तब से उन्होंने 27 टेस्ट, 60 वनडे और 20 T20 इंटरनेशन में कार्य किया है. गफाने को भी सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये आईसीसी की तरफ से मिलते हैं.

रिचर्ड इलिंगवर्थ (Richard Illingworth): क्रिकेटर ने अंपायर बने इंग्लैंड के 55 वर्षीय रिचर्ड 42 टेस्ट, 59 वन्डे और 16 T20 में अंपायरिंग कर चुके हैं. उन्हें 2006 के इंग्लिश क्रिकेट सत्र के लिए प्रथम श्रेणी अंपायरों की ईसीबी पूरी सूची में नियुक्त किया गया था, और अप्रैल 2019 में उन्हें 2019 विश्व कप के दौरान खड़े होने वाले सोलह अंपायरों में से एक के रूप में नियुक्त किया गया था. आईसीसी की तरफ से रिचर्ड को टेस्ट मैच में अंपायरिंग करने के लिए $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं. इसके अलावा उन्हें सालाना $35000 रुपये (करीब 24,60,202 रुपये) सैलरी के रूप में मिलते हैं.

रिचर्ड केटलबरो (Richard Kettleborough): इंग्लैंड के इस 46 वर्षीय शख्स ने अप्रैल 2002 में इंग्लैंड में प्रथम श्रेणी के खेल में अपनी अंपायरिंग की शुरुआत की. तब से उन्होंने 58 टेस्ट, 78 एकदिवसीय और 22 टी20 में अंपायरिंग की है. उन्हें नवंबर 2009 में ICC अंपायरों के पूर्ण अंतर्राष्ट्रीय पैनल में शामिल किया गया. केटलबरो को भी आईसीसी सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में देती है. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये मिलते हैं.

नाइजेल लॉन्ग (Nigel Llong): इंग्लैंड का यह 50 वर्षीय अंपायर वर्तमान में ICC अंपायरों के एलीट पैनल का सदस्य है. जून 2000 में अपने पहले प्रथम श्रेणी मैच में लंबे समय तक काम किया, तब से उन्होंने 56 टेस्ट, 123 वनडे और 32 टी20 में अंपायरिंग की. लॉन्ग को भी सालाना $45000 रुपये (31,63,117 रुपये) वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं.

इयान गौल्ड (Ian Gould):  इंग्लैंड का यह पूर्व प्रथम श्रेणी क्रिकेटर आईसीसी एलीट पैनल क्रिकेट अंपायर है. गौल्ड को वेस्ट इंडीज में 2007 क्रिकेट विश्व कप के 3 मैचों के लिए नियुक्त किया गया था, जहां से उनकी अंपायरिंग की शुरुआत हुई, तभी से उन्होंने 74 टेस्ट, 135 एकदिवसीय और 37 टी20 में अंपायरिंग की है. इयान को भी सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये आईसीसी की तरफ से मिलते हैं.

ब्रूस ऑग्जेनफोर्ड (Bruce Oxenford): ऑस्ट्रेलिया के इस अंपायर ने पहली बार 2008 में इंटरनेशनल वनडे मैच में अंपायरिंग की थी. 2012 में उन्हें आईसीसी एलीट अंपायर पैनल में पदोन्नत किया गया था. उन्होंने अब तक 55 टेस्ट, 90 वनडे और 20 T20 मैच में फैसले दिए हैं. ब्रूस को भी आईसीसी सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में देती है. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये मिलते हैं.

सुंदरम रवि (Sundaram Ravi): यह 42 वर्षीय अंपायर आईसीसी के एलीट पैनल ऑफ अंपायरों में शामिल हैं. भारत की तरफ से एलीट पैनल के सदस्य बनने वाले श्रीनिवासराघवन वेंकटराघवन के बाद रवि दूसरे भारतीय अंपायर बने हैं. उन्होंने अब तक 33 टेस्ट, 42 वनडे और 18 T20 में अंपायरिंग की है. सुंदरम को टेस्ट मैच में अंपायरिंग करने के लिए $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं. इसके अलावा उन्हें सालाना $35000 रुपये (करीब 24,60,202 रुपये) सैलरी के रूप में मिलते हैं.

पॉल रीफेल (Paul Reiffel): ऑस्ट्रेलिया के इस 53 वर्षीय पूर्व क्रिकेटर ने वर्ष 2002 में अंपायर से प्रथम श्रेणी के मैच अंपायरिंग की शुरुआत की और 2008 में अंपायरों के आईसीसी इंटरनेशनल पैनल के सदस्य बने. उन्होंने 43 टेस्ट, 61 एकदिवसीय मैचों के अलावा 16 टी20 मैचों में डिजीसन दिया. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए पॉल को $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं.

रोड टकर (Rod Tucker): यह 54 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई अंपायर और ICC एलीट अंपायर पैनल के एक सदस्य ने अपने अंपायरिंग करियर में अब तक 67 टेस्ट, 78 वनडे और 35 T20 मुकाबलों में अंपायरिंग की है. रोड को भी सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये आईसीसी की तरफ से मिलते हैं.

जोइल विल्सन (Joel Wilson): त्रिनिदाद और टोबैगो के इस अंपायर ने 2015 विश्व कप में ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैंड में भी कार्य किया था और अब तक 13 टेस्ट, 58 वनडे और 26 टी20 मैच में काम कर चुके हैं. आईसीसी की तरफ से विल्सन को टेस्ट मैच में अंपायरिंग करने के लिए $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं. इसके अलावा उन्हें सालाना $35000 रुपये (करीब 24,60,202 रुपये) सैलरी के रूप में मिलते हैं.

माइकल गॉग(Michael Gough): इंग्लैंड के 39 वर्षीय इस युवा ने अप्रैल 2006 में अपनी पहली अंपायरिंग की थी. उन्होंने कई एकदिवसीय और टी20 मुकाबलों में भी काम किया. उन्होंने अब तक 9 टेस्ट, 52 वनडे और 14 T20 में अंपायरिंग की है. माइकल को सालाना करीब 31,63,117 रुपये वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये आईसीसी की तरफ से मिलते हैं.

रुचिरा पल्लियागुरगे (Ruchira Palliyaguruge): एक पूर्व प्रथम श्रेणी के क्रिकेटर ने श्रीलंका से अंपायर का पदभार संभाला. पल्लियागुरगे ने 2011 में श्रीलंका और ऑस्ट्रेलिया के बीच हंबनटोटा में एकदिवसीय मैच में अपनी अंपायरिंग की शुरुआत की. 51 वर्षीय इस खिलाड़ी ने अब तक 2 टेस्ट, 71 वनडे और 32 T20 में अंपायरिंग की है. रुचिरा को भी हर साल $45000 रुपये (31,63,117 रुपये) वेतन के रूप में मिलते हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको $3000 रुपये (2,10,874 रुपये), टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए $1000 रुपये (70,291 रुपये) और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए $2200 रुपये (1,54,641 रुपये) मिलते हैं.

पॉल विल्सन (Paul Wilson): ऑस्ट्रेलिया का यह अंपायर वर्तमान में क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया प्रोजेक्ट अंपायर के पैनल पर एक अंपायर है. वह 2018 अंडर-19 क्रिकेट विश्व कप में अंपायरों में से एक भी थे, और अब तक 23 एकदिवसीय और 11 टी 20 आई में अपने फैसले दे चुके हैं. टेस्ट मैच में अंपायरिंग के लिए उनको 2 लाख 10 रुपये, टी-20 मैच में अंपायरिंग के लिए करीब 70 हजार और वनडे इंटरनेशनल मैच में अंपायरिंग के लिए तकरीबन डेढ़ लाख रुपये मिलते हैं.