close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

भारत पर जीत के बाद न्यूजीलैंड का बढ़ा हौसला, एक कविता के जरिए किया भावनाओं का इजहार

न्यूजीलैंड टीम वर्ल्ड कप-2019 फाइनल में इंग्लैंड से भिड़ने जा रही है.

भारत पर जीत के बाद न्यूजीलैंड का बढ़ा हौसला, एक कविता के जरिए किया भावनाओं का इजहार
भारत पर जीत के बाद एक-दूसरे को गले लगाते न्यूजीलैंड के खिलाड़ी. (फोटो: IANS)

नई दिल्ली:  आईसीसी विश्व कप-2019 (World Cup 2019) के सेमीफाइनल में भारत की हार के बाद न्यूजीलैंड टीम के हौसले बुलंद हैं. 14 जुलाई को फाइनल मुकाबले में इंग्लैंड से भिड़ने जा रही किवी टीम के खिलाड़ियों में काफी उत्साह देखा जा रहा है. यही वजह है कि टीम के बोर्ड ब्लैककैप्स (BLACKCAPS) ने एक फैन की कविता शेयर करके अपनी भावनाओं का इजहार भी किया है.

BlackCaps ने अपने ऑफिशियल ट्विटर हैंडल से शेयर की गई कविता में खुद को वर्ल्ड कप के खिताब से सिर्फ एक कदम दूर बताया है. पढ़िए पूरी कविता...

India's loss in semis was  'Boult' from the blue
NZ is one step from winning, that is true
Australia is out, the reality is 'Starc'
England is in final,  Finch can't emulate Clarke
On Sunday we will know who is  the big boss
Is it Root, Roy or Taylor Ross

14 जुलाई को मुकाबला
क्रिकेट का 'मक्का' कहे जाने वाला ऐतिहासिक लॉर्डस मैदान विश्व क्रिकेट को एक नया चैंपियन देने के लिए तैयार है. यह नया चैंपियन मेजबान इंग्लैंड और न्यूजीलैंड में से कोई एक हो सकता है, जिन्हें रविवार को यहां एक-दूसरे के खिलाफ आईसीसी विश्व कप-2019 का फाइनल खेलना है.

27 साल बाद फाइनल में
इंग्लैंड की टीम 27 साल बाद फाइनल में पहुंची है. उसका यह चौथा फाइनल है. वह इससे पहले तीन बार फाइनल खेल चुकी है, लेकिन एक बार भी खिताब नहीं जीत पाई है. इस बार हालांकि उसे मेजबान होने के नाते खिताब का सबसे बड़ा दावेदार माना जा रहा है. इंग्लैंड ने मौजूदा चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 8 विकेट से करारी मात देकर फाइनल में कदम रखा है.

दूसरी बार फाइनल में
वहीं, किस्मत के सहारे सेमीफाइनल में पहुंची न्यूजीलैंड की टीम ने खिताब की दावेदार माने जाने वाली भारत को रोमांचक मुकाबले में 18 रनों से हराकर दूसरी बार फाइनल में अपना स्थान पक्का किया है. कीवी टीम को 2015 के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के हाथों हार का सामना करना पड़ा था.