close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मां ने अपनी ही 6 साल की बेटी की कलाई काटकर कर दी हत्या, जानें क्या है पूरा मामला

घटना पुणे के दत्तवाडी इलाके की है, जहां घटना के बाद पुलिस ने मां श्वेता पाटिल को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है.

मां ने अपनी ही 6 साल की बेटी की कलाई काटकर कर दी हत्या, जानें क्या है पूरा मामला
पुलिस का कहना है की मां श्वेता मानसिक तौर पर बीमार है. (फाइल फोटो)

पुणेः पुणे में एक मां के अपनी ही 6 साल की बेटी के दोनों हाथों की नसें काटने का दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है, जिससे बच्ची की मौत हो गई. घटना पुणे के दत्तवाडी इलाके की है, जहां घटना के बाद पुलिस ने मां श्वेता पाटिल को गिरफ्तार कर लिया है और उससे पूछताछ कर रही है. पुलिस का कहना है की मां श्वेता मानसिक तौर पर बीमार है. वह डिप्रेशन से पीड़ित है. जिसके चलते उसने अपनी बेटी के दोनों हाथों की नसें काट दी, जिससे बच्ची अक्षरा की मौत हो गई है.

दत्तवाडी पुलिस स्टेशन के इंस्पेक्टर राजेंद्र सहाणे ने बताया "श्वेता चार साल पहले अमेरिका से आई थी. उसका पति अमित सॉफ्टवेअर इंजीनियर है. जो अमेरिका जाना चाहता था. कुछ दिनों में उन्हें वीजा के लिए चेन्नई भी जाना था. श्वेता अमेरिका नहीं जाना चाहती थी, जिसके चलते वह कई बार अपने पति से लड़ाई भी कर चुकी थी. सोमवार को जब घर पर कोई नहीं था, श्वेता अक्षरा को लेकर किचन में लेकर गई और उसके दोनों हाथों की नसें काट दी. जिससे खून बहने लगा और कुछ देर बाद बच्ची की मौत हो गई."

देखें लाइव टीवी

अक्षरा का जन्म अमेरिका मे हुआ था. जिसकी वजह से उसके मौत की खबर अमेकिरन दुतावास को दी गई है. कानूनन कार्रवाई पूरी होने के बाद ही अक्षरा का अंतिम संस्कार किया जाएगा. पुलिस की जांच में पता चला है कि दस साल पहले श्वेता और अमित की शादी के तुरंत बाद अमेरिका चले गए थे. वहां पर छह साल रहने के बाद वह चार साल पहले ही पुणे लौटे थे. इस दौरान श्वेता के माता-पिता का कैंसर की बिमारी से निधन हो गया. जिसके बाद श्वेता की मानसिक हालत बिगड़ती चली गई. उसका इलाज भी चल रहा था.

24 घंटे में दो शूट आउट से थर्राई दिल्ली, अब गीता कॉलोनी में हुई फायरिंग, कई घायल

कुछ महिनों से अमित फिर से अमेरिका में नौकरी के लिए जाना चाहता था, लेकिन श्वेता फिरसे अमेरिका नहीं जाना चाहती थी. श्वेता को हमेशा यह डर लगा रहता था की उसकी बेटी का क्या होगा, उसे तो कैंसर नहीं होगा. ऐसे स्थिति में उसकी मानसिक बिमारी बढती ही जा रही थी. चेन्नई में वीजा इंटरव्यू में जाने के पहले ही श्वेता ने अक्षरा को मार डाला, जिससे पूरा परिवार सदमें में है. फिलहाल दत्तवाडी पुलिस ने श्वेता को गिरफ्तार कर लिया है और अमेरिकन दूतावास को अक्षरा की मौत की खबर दे दी है.