इमरान हाशमी ने कहा- देश में है बोलने की आजादी, नसीरुद्दीन शाह के बयान से अनजान हूं
Advertisement

इमरान हाशमी ने कहा- देश में है बोलने की आजादी, नसीरुद्दीन शाह के बयान से अनजान हूं

इमरान हाशमी का कहना है कि वह नसीरुद्दीन शाह के बयान से इत्‍तेफाक नहीं रखते. साथ ही साथ उन्होंने इस विवाद के बारे में ज्यादा जानकारी न होने की वजह से माफी भी मांगी.

'चीट इंडिया' और 'ठाकरे' के मेकर्स ने एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 'चीट इंडिया' को तय डेट से पहले रिलीज करने की घोषणा की.

मुंबई: बॉलीवुड की अपकमिंग मूवी 'चीट इंडिया' के एक्टर इमरान हाशमी का कहना है कि वह नसीरुद्दीन शाह के इस बयान से इत्‍तेफाक नहीं रखते. साथ ही साथ उन्होंने इस विवाद के बारे में ज्यादा जानकारी न होने की वजह से माफी भी मांगी.

दरअसल, एक वीडियो में शाह भारत में मानवाधिकारों के स्तर पर बयान देते नजर आ रहे हैं. शाह कह रहे हैं कि ''हमारे देश का संविधान हमें बोलने, सोचने, किसी भी धर्म को मानने और इबादत करने की आजादी देता है. लेकिन, अब देश में मजहब के नाम पर नफरतों की दीवार खड़ी की जा रही है. जो लोग इस अन्याय के खिलाफ आवाज उठाते हैं, उन्हें इसकी सजा दी जाती है.''

VIDEO: नसीरुद्दीन शाह ने फिर उठाए सवाल, 'देश में धर्म के नाम पर खड़ी की जा रही है नफरत की दीवार'
फिल्म 'चीट इंडिया' के प्रमोशन के दौरान जब इमरान हाशमी से नसीरुद्दीन शाह से जुड़े विवाद के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, "अभी जो मैं सोच रहा हूं, उसे आपके सामने कह पाने में सक्षम हूं. मुझे लगता है, हमारी कंट्री में फ्रीडम ऑफ स्पीच है. और इसके (नसीरुद्दीन शाह) बारे में मुझे ज्यादा पता नहीं है, मुझे माफ़ कीजिये, तो इसके बारे में बात करना गैर-जिम्मेदाराना होगा. मैं इसके बारे में पता करने के बाद बात करूंगा.''

fallback

इस मौके पर शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे भी मौजूद थे. जब उनके यही सवाल किया गया, तो उन्होंने कहा, "जिस इवेंट पर आए हैं, उसके बारे में ही बात करेंगे."

फिल्म 'चीट इंडिया' और 'ठाकरे' के मेकर्स ने एक साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर 'चीट इंडिया' को तय डेट से पहले रिलीज करने की घोषणा की. दोनों फिल्मों की रिलीज डेट पहले टकरा रही थी. 25 जनवरी को रिलीज होने वाली फिल्म 'चीट इंडिया' अब 18 जनवरी को रिलीज होगी.

fallback

पिछले दिनों बुलंदशहर में हुई घटना को लेकर नसीरुद्दीन शाह का दिया गया बयान विवादों में रहा था. एक बार फिर उनका कहना है कि हक के लिए आवाज उठाने वालों को कुचला जा रहा है.

Trending news