close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

BoxOffice पर 'एनाबेल' लोगों को डराने में हुई कामयाब, हॉरर फिल्म का खौफ कायम

कॉन्ज्यूरिंग यूनिवर्स फ्रैंचाइज़ी की फिल्म 'एनाबेल कम्स होम' 26 जून को रिलीज हो गई है. फिल्म को क्रिटिक्स और फैंस दोनों का ही खूब प्यार मिल रहा है.   

BoxOffice पर 'एनाबेल' लोगों को डराने में हुई कामयाब, हॉरर फिल्म का खौफ कायम
हॉरर फिल्म (फोटो साभार- Instagram)

नई दिल्ली: हॉलीवुड हॉरर फिल्मों को भारतीय बॉक्स ऑफिस पर खूब पसंद किया जाता है. इसी वजह से पिछले कई सालों में इन फिल्मों को बड़े पैमाने में भारत में रिलीज किया जाने लगा है. कॉन्ज्यूरिंग यूनिवर्स फ्रैंचाइज़ी की फिल्म 'एनाबेल कम्स होम' 26 जून को रिलीज हो गई है. फिल्म को क्रिटिक्स और फैंस दोनों का ही खूब प्यार मिल रहा है. बता दें कि 'एनाबेल' सीरीज की ये तीसरी फिल्म है. 

फिल्म की कहानी एनाबेल डॉल की है जिसकी दहशत काफी ज्यादा है. इस बार एनाबेल की डिमांड बढ़ गई है और इस कहानी में वॉरेन (पैट्रिक विल्सन और वेरा फ़ार्मिगा) की 10 साल की बेटी जूडी (मैकेंना ग्रेस) को एनाबेल अपना निशाना बना रही है. फिल्म के ट्रेलर को देखकर ही बात का पता लग जाता है लेकिन इस फिल्म में एनाबेल अपनी बुरी शक्तियों से वॉरेन की फैमिली को डराने में कामयाब होगी या नहीं ये तो आपको फिल्म देखकर ही पता चलेगा.

वहीं फिल्म की डेयरडेविल जोड़ी ऐड और लोरेन जो एनाबेल डॉल को अपने घर लेकर आते हैं और उसे अपने घर के एक कमरे में बंद कर देते है जहां पर कई और आत्माएं भी कैद हैं. कहानी में नया मोड़ तब आता है जब वॉरेन (पैट्रिक विल्सन और वेरा फ़ार्मिगा) एक हफ्ते के लिए बाहर चले जाते हैं और अपनी बेटी जूड़ी की देखभाल के लिए एलेन (मैडिसन इस्मेन) को बुलाते हैं. सब कुछ ठीक चल रहा होता है तभी अचानक जूड़ी की बेस्ट फ्रेंड डेनिएला (केटी सरिफ़) उसका घर देखने लगती है और उसे लगता है कि उसके माता-पिता की मौत के पीछे की कहानी से जुड़ी कुछ चीजें शायद यहां हो सकती है. उसके बाद कहानी थोड़ी डरावनी होने लगती है जिसमें फिल्म की डायरेक्टर और राइटर गैरी डबर्मन ने बहुत अच्छे तरीके से पेश भी किया है.

तीसरी कड़ी के साथ एक बार फिर डराने आएगी 'एनाबेल', जानें इसकी रिलीज डेट

फिल्म में म्यूजिक और कॉमिक आइडिया का बेहतरीन ढंग से इस्तेमाल किया गया है. फिल्म की सिनेमैटोग्राफी और लाइटिंग बहुत ही शानदार है. कई बार ऐसा होता है कि आप हॉरर फिल्मों को देखकर डर जाते है और असहज महसूस करते हैं लेकिन एनाबेल में ऐसा कुछ भी नहीं है क्योंकि हॉरर सिन्स को देखकर आप कुछ देर बाद खुद ही सामान्य हो जाते हैं. 

फिल्म में चाइल्ड स्टार मैकेंना ग्रेस ने अच्छा काम किया है जब भी कोई डरावना सीन आता है तो मैकेंना ने उसे बहुत बढ़िया तरीके से पेश किया है. पैट्रिक विल्सन और वेरा फ़ार्मिगा को स्क्रीन पर ज्यादा वक्त भले ही ना मिला हो लेकिन फिर भी दोनों अपने एक्शन से आपका दिल जीत लेगें. एनाबेल स्केरी होने के साथ ही मजेदार भी है जो आपको डराने के अलावा एंटरटेन भी करेगी.

हॉलीवुड की और खबरें पढ़ें