पाकिस्तान में फिल्में रिलीज न होने से बॉलीवुड के बिजनेस पर होगा यह असर, एक्सपर्ट ने कहा...

आतंकी हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद ‘टोटल धमाल’, ‘ लुका छुपी’, ‘अर्जुन पटियाला’, ‘नोटबुक’ और ‘कबीर सिंह’ जैसी फिल्मों के निर्माताओं ने पाकिस्तान में इन फिल्मों को रिलीज नहीं करने का फैसला किया है

पाकिस्तान में फिल्में रिलीज न होने से बॉलीवुड के बिजनेस पर होगा यह असर, एक्सपर्ट ने कहा...

नई दिल्ली: पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान में भारतीय फिल्में रिलीज नहीं करने के बॉलीवुड बिरादरी के फैसले से इन फिल्मों की बॉक्स ऑफिस कमाई पर ज्यादा असर नहीं पड़ेगा. इस फैसले से पाकिस्तान के वितरकों को ही ज्यादा नुकसान होगा. 

बॉक्स ऑफिस पर नजर रखने वाले विश्लेषकों का ऐसा मानना है. जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले में 40 जवानों के शहीद होने के बाद ‘टोटल धमाल’, ‘ लुका छुपी’, ‘अर्जुन पटियाला’, ‘नोटबुक’ और ‘कबीर सिंह’ जैसी फिल्मों के निर्माताओं ने पाकिस्तान में इन फिल्मों को रिलीज नहीं करने का फैसला किया है. 

बॉलीवुड फिल्मों के कारोबार पर नजर रखने वाले विश्लेषक तरण आदर्श ने कहा कि भारतीय फिल्मों को पाकिस्तान में काफी पसंद किया जाता है लेकिन कमाई के लिहाज से वह उतना महत्वपूर्ण नहीं है.
उनका मानना है कि इससे पाकिस्तान के वितरकों को ज्यादा नुकसान होगा. 

फिल्म वितरक अक्षय राठी का भी कहना है कि पाकिस्तान के वितरक ज्यादा प्रभावित होंगे. उनका कहना है कि औसतन भारतीय फिल्में पाकिस्तान में 4-7 करोड़ रुपये की कमाई करती है. 

'टोटल धमाल' की कमाई ने भड़काई बॉक्स ऑफिस पर आग, दूसरे दिन कलेक्शन में आया इतना उछाल

पाकिस्तान के कलाकार नोमान जावेद ने पुलवामा हमले की निंदा करते हुए कहा कि कलाकारों पर प्रतिबंध लगाने से इस मसले का हल नहीं होगा. हमें साथ आना चाहिए और आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़नी चाहिए. 

वहीं पाकिस्तान के फिल्मनिर्माता सोहैल खान का कहना है कि भारतीय फिल्म उद्योग को नुकसाना उठाना होगा क्योंकि बॉलीवुड फिल्मों की दुनियाभर की कमाई में पाकिस्तान काफी योगदान देता है. 

इनपुट भाषा से 

बॉलीवुड की और खबरें पढ़ें