Breaking News
  • जम्मू-कश्मीर के पुलवामा के त्राल में 3 आतंकवादी मारे गए, सेना का सर्च ऑपरेशन जारी
  • चीन में कोरोना वायरस से 2000 लोगों की हुई मौत

कम मात्रा में शराब 'पीने' से बुजुर्ग मरीजों के दिल को नहीं होता खतरा: शोध

जामा नेटवर्क ओपन जर्नल में प्रकाशित इस शोध में कहा गया गया है कि जिन्हें बुजुर्ग उम्र में हार्ट फेलियर का पता चला है, उन्हें कभी भी ड्रिंक करना शुरू नहीं करना चाहिए.

कम मात्रा में शराब 'पीने' से बुजुर्ग मरीजों के दिल को नहीं होता खतरा: शोध
अपने दिल की चिन्ता किए बिना थोड़ी बहुत शराब पी सकते हैं. एक नए शोध में यह जानकारी दी गई है.प्रतीकात्मक फोटो

न्यूयार्कः बुजुर्ग लोग जिनकी उम्र 65 साल से ज्यादा है और हाल ही में उन्हें दिल की बीमारी का पता चला हो, वे अपने दिल की चिन्ता किए बिना थोड़ी बहुत शराब पी सकते हैं. एक नए शोध में यह जानकारी दी गई है. इस अध्ययन से पता चलता है कि हरेक हफ्ते सात या इससे कम ड्रिंक पीनेवालों की जिन्दगी ड्रिंक नहीं करनेवालों की तुलना में केवल एक साल बढ़ती है. शोधकर्ताओं ने जोर देकर कहा कि इस शोध का मतलब यह नहीं है कि ड्रिंक नहीं करनेवाले दिल की बीमारी का पता लगने के बाद ड्रिंक करना शुरू कर दें.

PM-JAY : 5 लाख रुपए के हेल्‍थ कवर के लिए सरकार को देना पड़ सकता है सालाना 1,110 रुपये का प्रीमियम

वरिष्ठ लेखक और अमेरिका के वाशिंगटन यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन के प्रोफेसर एल. ब्राउन ने कहा, "अधिक शराब पीने के खतरों के बारे में हम लंबे समय से जानते हैं कि इससे हार्ट फेलियर का खतरा बढ़ जाता है. जबकि इसके विपरीत हमारे आंकड़ों से पता चलता है कि स्वस्थ लोग थोड़ा बहुत ड्रिंक करते हैं तो उनका ड्रिंक नहीं करने वालों की तुलना में हार्ट फेलियर से लंबे समय तक बचाव होता है."

नॉर्थ कोरिया-अमेरिका के बीच बढ़ा तनाव, USA ने कोरियाई द्वीप की तरफ भेजे वॉर शिप

जामा नेटवर्क ओपन जर्नल में प्रकाशित इस शोध में कहा गया गया है कि जिन्हें बुजुर्ग उम्र में हार्ट फेलियर का पता चला है, उन्हें कभी भी ड्रिंक करना शुरू नहीं करना चाहिए. इसके विपरीत अगर लोग एक या दो ड्रिंक रोजाना लेते हैं तो हार्ट फेलियर का पता चलने के बाद भी ड्रिंक करते रहने में कोई बुराई नहीं है.