#10YearChallenge के बीच BJP ने शुरू किया #5YearChallenge, बताया ऐसा बदला भारत

बीजेपी के फेसबुक पेज और ट्विटर पर 5 ईयर चैलेंज की तस्वीरें पोस्ट की जा रही हैं. इसमें साल 2014 और साल 2019 के बीच हुए विभिन्न फैसलों और कामों की तुलना की गई है. 

#10YearChallenge के बीच BJP ने शुरू किया #5YearChallenge, बताया ऐसा बदला भारत
#5yearchallenge 2014 बनाम साल 2019 के विकास के दावे कर रही है.

नई दिल्ली: सोशल मीडिया पर इन दिनों 10 ईयर चैलेंज #10yearschallenge चल रहा है. इस चैलेंज के तहत चैलेंज लेने वाले अपनी 10 साल पुरानी और आज यानि साल 2019 की तस्वीर का कोलाज बना कर पोस्ट कर रहे हैं. इसी तर्ज पर भारतीय जनता पार्टी ने 5 ईयर चैलेंज #5yearchallenge शुरू किया है. इसके तहत वह साल 2014 बनाम साल 2019 के विकास के दावे कर रही है. बीजेपी के फेसबुक पेज और ट्विटर पर 5 ईयर चैलेंज की तस्वीरें पोस्ट की जा रही हैं. इसमें साल 2014 और साल 2019 के बीच हुए विभिन्न फैसलों और कामों की तुलना की गई है. 

आयुष्मान भारत

 

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती के मौके पर 25 सितंबर को आयुष्मान भारत योजना को लॉन्च किया था. इस योजना के तहत देश के गरीब परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये के मुफ्त इलाज की व्यवस्था की गई है. मीडिया की तरफ से इसे ओबामा केयर की तर्ज पर मोदी केयर का नाम दिया गया था. इस सबके बीच आयुष्मान भारत के सीईओ डॉ. इंदु भूषण ने बताया कि बुधवार तक करीब 8.50 लाख लोग आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठा चुके हैं.

कम किया होम लोन

 

मोदी सरकार के राज में लोगों का अपना घर लेने का सपना पूरा हो सका. मनमोहन सरकार में जहां लोगों को घर का लोन 10.3 प्रतिशत पर मिलता था, वहीं, मोदी सरकार के आने के बाद लोगों को कम ब्याज दर पर बैंक से कर्ज मिलने लगा. मोदी सरकार में 8.65 प्रतिशत दर पर लोन मिल रहा है. 

उज्ज्वला योजना

 

साल 2016 में पहली बार प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की शुरुआत की गई. 1 मई 2016 को उत्तर प्रदेश के बलिया में लॉन्‍च किया गया था. इस योजना के तहत के सरकार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों को घरेलू रसोई गैस (एलपीजी (LPG) गैस) का कनेक्शन देती है. प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के सहयोग से चलाई जा रही है.

प्रधानमंत्री आवासीय योजना

 

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मोदी सरकार का मिशन था कि हर किसी का अपना घर हो. इस स्कीम के तहत पहला घर बनाने या खरीदने के लिए होम लोन पर ब्याज सब्सिडी का फायदा उठाया जा सकता है. होम लोन के ब्याज पर 2.60 लाख रुपए का फायदा कमजोर आय वर्ग के लोग उठा सकते हैं. पहले यह स्कीम दिसंबर 2017 में खत्म हो रही थी. लेकिन बाद में इसे बढ़ाकर 31 मार्च 2019 तक कर दिया गया.