VIDEO: बेखौफ बदमाशों ने कार ड्राइवर की कनपटी पर मारी गोली, मोबाइल में रिकॉर्ड हुई वारदात

वारदात का एक वीडियो भी सामने आया है जिसमे दो बदमाश कार ड्राइवर को गोली मारते हुए नज़र आ रहे हैं.

VIDEO: बेखौफ बदमाशों ने कार ड्राइवर की कनपटी पर मारी गोली, मोबाइल में रिकॉर्ड हुई वारदात
इस वारदात में मोनू नामक एक शख्स की तलाश कर रही है जो जमानत पर बाहर है.

नई दिल्ली: दिल्ली के आउटर-नॉर्थ डिस्ट्रिक्ट के नरेला इलाके में दिनदहाड़े एक ईको कैब चालक की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी. पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने मौका-ए-वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज भी कब्जे में ले लिए हैं. शुरुआती जांच में पुलिस लूटपाट की आशंका से ज्यादा गैंगवार की आशंका जाहिर कर रही है. वहीं एक मोबाइल वीडियो भी सामने आया है जिसमे दो बदमाश कार चालक को गोली मारते हुए नज़र आ रहे हैं.

पुलिस ने बताया, इस वारदात में मोनू नामक एक शख्स की तलाश कर रही है जो जमानत पर बाहर है. वो ही वारदात के बाद से ही फरार है. उसने युवक के परिवार वालों को जान से मारने की धमकी दे रखी थी.

जानकारी के अनुसार, मृतक युवक की पहचान विकास उर्फ विक्की के रूप में हुई है. वह परिवार के साथ नरेला बाजितपुर गांव का रहने वाला था. परिवार में माता-पिता और तीन बहनें और दो भाई हैं. विकास सबसे छोटा भाई था. बड़ा भाई भी गाड़ी चलाता है. विकस ने पिछले कुछ महीने पहले होलंबी कलां स्थित एक स्कूल में कैब लगा रखी थी जिसको वह खुद ही चलाया करता था. शुक्रवार दोपहर को पीसीआर को होलंबी कलां मान पब्लिक स्कूल के पास कैब चालक को गोली मारने की सूचना मिली. पुलिस मौके पर पहुंची. चालक की ड्राइविंग सीट पर खून से लथपथ हालत में लाश पड़ी थी जिसकी कनपटी के पास गोली मार रखी थी. पुलिस ने परिवार वालों को वारदात की सूचना दी, जिन्होंने कार और कपड़ों से उसकी पहचान की.

मृतक विकास के पिता ने पुलिस को बताया, बीते 25 दिसंबर को बाजिदपुर गांव में ही मोनू नामक युवक पर बदमाशों ने दो गोली मारी थी जिसमें बदमाश पकड़े भी गए थे. मोनू पर गोली चलाने वालों में विकास और राहुल का भी नाम सामने आया था, लेकिन पुलिस ने जब वारदात के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली. उसके बाद विकास और राहुल को केस से अलग कर दिया था. शुक्रवार सुबह विकास को पुलिस वाले कहीं पर ले गए थे.

इस बारे में उनको कोई जानकारी नहीं हैं, लेकिन जब बाद में सूचना मिली कि विकास की गोली मारकर हत्या कर दी है. उन्होंने बताया कि मोनू ने पहले भी परिवार वालों पर चार राउंड गोलियां चलाई थीं जबकि पिता जो कि स्वतंत्रता सैनानी हैं उन पर भी जानलेवा हमला किया था. मोनू के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई थी जिसमें उसे पुलिस ने पकडक़र तिहाड़ जेल भेज दिया था. कुछ ही दिन पहले वह जमानत पर बाहर आया था. बाहर आते ही परिवार वालों को धमकी दे रखी थी कि 'वह विकास को जान से मार डालेगा. बचा सकते हो तो बचाकर दिखा दो.' परिवार तभी से विकास की सुरक्षा को लेकर डरा हुआ था. विकास भी तभी से अपनी जान बचाने के लिए रोहिणी में रह रहा था. उसको रात को घर आने के लिए भी मना कर दिया जाता था.

मुखबरी के बाद की हत्या
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जिस तरह से वारदात को अंजाम दिया है. उससे लगता है कि बदमाशों को पहले से ही पता था कि विकास उर्फ विक्की स्कूल के पास कैब में बैठा है. तभी बाइक पर बदमाश आए और पास से उसको गोली मारकर फरार हो गए.  

स्कूल की छुट्टी होने से पहले हुई वारदात
पुलिस के अनुसार जिस समय वारदात हुई, उस समय विकास उर्फ विक्की बच्चों को स्कूल से लेने आया हुआ था. स्कूल की छुट्टी होने में ज्यादा वक्त नहीं था. इस बारे में बदमाशों को भी पूरी तरह से जानकारी थी. अगर वो छुट्टी के समय वारदात को अंजाम देते तो शायद वारदात में बच्चे भी चपेट में आ सकते थे. वारदात के बाद स्कूली बच्चों के परिवार वालों को स्कूल बुलाकर बच्चों को उनको सौंपा गया.