close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

गुरुग्राम में एक मुस्लिम पर हमला: गंभीर ने ट्वीट कर की घटना की निंदा

 गंभीर के इस ट्वीट पर दिल्ली में उनकी पार्टी के कुछ सदस्यों ने आपत्ति जताई है. उनका कहना है कि क्रिकेटर से नेता बने गंभीर के शब्दों का इस्तेमाल विपक्षी दल भाजपा के खिलाफ कर सकते हैं.

 गुरुग्राम में एक मुस्लिम पर हमला: गंभीर ने ट्वीट कर की घटना की निंदा
पूर्वी दिल्ली से नवनिर्वाचित सांसद गौतम गंभीर की फाइल फोटो.

नई दिल्ली:  पूर्वी दिल्ली से नवनिर्वाचित सांसद गौतम गंभीर ने गुरुग्राम में एक मुस्लिम व्यक्ति पर हुए कथित हमले की घटना को सोमवार को ‘‘निंदनीय’’ करार दिया और प्राधिकारियों से इस मामले में कड़ी कार्रवाई करने की अपील की. गंभीर ने ट्वीट किया, 'गुरुग्राम में एक मुस्लिम व्यक्ति से टोपी उतारने, जय श्री राम का उद्घोष करने को कहा गया. यह निंदनीय है. गुरुग्राम प्राधिकारियों को ऐसी कार्रवाई करनी चाहिए जो एक मिसाल हो. हमारा राष्ट्र धर्मनिरपेक्ष है, जहां जावेद अख्तर ‘ओ पालन हारे, निर्गुण और न्यारे’ लिखते हैं और राकेश मेहरा ने हमें ‘दिल्ली 6’ में ‘अर्जियां’ जैसा गीत दिया.'

Attack on a Muslim in Gurugram, Gautam Gambhir Condemnation of the incident

हालांकि गंभीर के इस ट्वीट पर दिल्ली में उनकी पार्टी के कुछ सदस्यों ने आपत्ति जताई है. उनका कहना है कि क्रिकेटर से नेता बने गंभीर के शब्दों का इस्तेमाल विपक्षी दल भाजपा के खिलाफ कर सकते हैं.

दिल्ली भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि गंभीर अब क्रिकेटर नहीं हैं और उन्हें यह समझना चाहिए कि उनके शब्दों और कार्यों को राजनीति के चश्मे से देखा जाएगा. उन्होंने कहा कि किसी को इस प्रकार की घटनाएं अच्छी नहीं लगतीं लेकिन हरियाणा में हुई किसी घटना पर बोलने का क्या फायदा है जिसे अन्य दल भाजपा के खिलाफ इस्तेमाल कर सकते हैं.

लाइव टीवी देखें

गंभीर ने एक अन्य ट्वीट किया, 'धर्मनिरपेक्षता पर मेरे विचार माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘सबका साथ सबका विकास’ मंत्र से प्रेरित हैं... मैं स्वयं को केवल गुरुग्राम की घटना तक सीमित नहीं रख रहा, जाति/धर्म के आधार पर किसी भी प्रकार का दमन निंदनीय है. भारत सहिष्णुता एवं समावेशी विकास की अवधारणा पर आधारित है.'

उल्लेखनीय है कि गुरुग्राम में 25 मई को लोगों के एक समूह ने 25 वर्षीय एक युवक की कथित रूप से पिटाई की थी. पीड़ित को कथित रूप से टोपी उतारने और ‘जय श्री राम’ का उद्घोष करने को कहा गया था.