दिल्ली में कोहरे से 22 सालों में सर्वाधिक राहत वाला महीना रहा दिसंबर 2018 : मौसम विभाग

मौसम विभाग के अनुसार पालम स्थित इंदिरा गांधी हवाईअड्डे पर कोहरे के आंकड़ों के मुताबिक बीते दिसंबर में दृश्यता का औसत स्तर लगभग 1000 मीटर दर्ज किया गया. 

दिल्ली में कोहरे से 22 सालों में सर्वाधिक राहत वाला महीना रहा दिसंबर 2018 : मौसम विभाग
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: मौसम विभाग के अनुसार दिसंबर 2018 पिछले 50 साल के दौरान दिल्ली में तीसरा सबसे सर्द महीना रहा, साथ ही पिछले सालों में कोहरे के लिहाज से राष्ट्रीय राजधानी के लिये दिसंबर सबसे राहत वाला महीना साबित हुआ. 

विभाग द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार पालम स्थित इंदिरा गांधी हवाईअड्डे पर कोहरे के आंकड़ों के मुताबिक बीते दिसंबर में दृश्यता का औसत स्तर लगभग 1000 मीटर दर्ज किया गया. पिछले 22 साल में कोहरे के लिहाज से यह सबसे साफ महीना रहा. इस महीने में घने कोहरे की अवधि मात्र 145 घंटे दर्ज की गयी. यह दिसंबर में कोहरे की सामान्य अवधि 300 घंटे से काफी कम है. 

इतना ही नहीं दिसंबर 2018 में सिर्फ दो रातें ऐसी दर्ज की गयी जबकि कोहरे की अवधि नौ घंटे रही. सामान्य तौर पर दिसंबर में नौ घंटे से अधिक कोहरे वाली रातों की संख्या नौ रहती है. न्यूनतम तापमान के मामले में भी दिसंबर 2018 सबसे सर्द रहा. गुजरे साल के आखिरी महीने में औसत तापमान 6.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. 

दिल्ली में दिसंबर के दौरान पिछले 50 सालों में सबसे ज्यादा सर्दी 1996 में दर्ज की गयी जब महीने का औसत तापमान 5.9 डिग्री सेल्सियस रहा. वहीं दिसंबर 2005 में औसत तापमान 6.0 डिग्री सेल्सियस रहा. 

विभाग के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में दिसंबर 2018 में 26 दिन ऐसे रहे जिनमें न्यूनतम तापमान सामान्य स्तर से 1.6 डिग्री सेल्सियस तक कम रहा. इस महीने में सबसे कम तापमान 29 दिसंबर को 2.6 डिग्री सेल्सियस रहा. यह पिछले 50 सालों में चौथा सबसे सर्द दिन था. 

मौसम विभाग के आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में अब तक का सबसे सर्द दिन 27 दिसंबर 1930 था जब न्यूनतम तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस हो गया था. दिसंबर 2018 में 14 रातों का न्यूनतम तापमान छह डिग्री सेल्सियस से कम और आठ रातों का न्यूनतम तापमान चार डिग्री सेल्सियस से कम रहा. दिसंबर 2018 में हालांकि अधिकतम औसत तापमान 23 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य है. 

(इनपुट - भाषा)