विधानसभा चुनाव: दिल्ली में बिना चेहरे के लड़ेगी कांग्रेस, युवा नेताओं पर लगाएगी दांव

पार्टी ने विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश चुनाव समिति का गठन किया है.

विधानसभा चुनाव: दिल्ली में बिना चेहरे के लड़ेगी कांग्रेस, युवा नेताओं पर लगाएगी दांव
(फाइल फोटो)

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Elections 2020) को लेकर कांग्रेस (Congress) ने कमर कस ली है. पार्टी ने विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश चुनाव समिति का गठन किया है. प्रदेश चुनाव समिति में 45 सदस्य होंगे. 

दिल्ली (Delhi) प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा चुनाव समिति के भी अध्यक्ष होंगे. दिल्ली में कांग्रेस का अधिकारिक चेहरा कोई नहीं होगा पार्टी सामूहिक नेतृत्व में विधानसभा का चुनाव लड़ेगी. 

चुनाव में इस बार दिल्ली के पुराने नामों को मौका कम दिया जाएगा. जीत के अनुमान को देखते हुए ही पुराने नेताओं को तरजीह दी जाएगी. पार्टी का जोर ज्यादतर युवा और नए चेहरों आगे बढ़ाने पर रहेगा. 

प्रदेश चुनाव समिति की पहली बैठक कल 31 दिसंबर को होगी वहीं स्क्रीनिंग कमेटी की पहली बैठक 3 जनवरी को होगी. वहीं स्क्रीनिंग कमेटी की पहली बैठक 3 जनवरी को होगी. 

बता दें पिछले विधानसभा चुनाव 2015 कांग्रेस के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं थे. इस चुनाव में पार्टी दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों में एक भी सीट नहीं जीत पाई थी. दिल्ली में लगातार 15 साल तक राज करने वाली कांग्रेस के लिए यह बहुत बड़ा धक्का था. बता दैं इस चुनाव आम आदमी पार्टी ने एतिहासिक जीत हासिल की थी. आप ने 67 सीटें जीती थीं वहीं बीजेपी के खाते में सिर्फ तीन सीटें आ सकी थीं.