close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

दिल्ली: फैक्ट्री से घर लौट रहे सुपरवाइजर की गोली मारकर हत्या, CCTV में कैद हुई वारदात

सुपरवाइजर का काम करने वाला हरिओम अपनी फैक्ट्री से ड्यूटी खत्म होने के बाद घर के लिए निकला था.

प्रतीकात्मक तस्वीर

दिल्लीः राजधानी दिल्ली के जीटीबी एनक्लेव के झिलमिल इलाके में हरिओम (35) नाम के शख्स की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी. वारदात शनिवार देर शाम उस वक्त की है जब फैक्ट्री में बतौर सुपरवाइजर का काम करने वाला हरिओम अपनी फैक्ट्री से ड्यूटी खत्म होने के बाद घर के लिए निकला था. काम खत्म कर जैसे ही हरिओम फैक्ट्री से कुछ दूरी पर पहुंचा तभी बदमाशों ने हरिओम पर गोली चला दी और गोली मारने के बाद मौके से फरार हो गए. गोली की आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे लोग जल्दी-जल्दी में हरिओम को अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टर्स ने हरिओम को मृत घोषित कर दिया. 

सुप्रीम कोर्ट ने IT कानून की समाप्त धारा के तहत गिरफ्तारी याचिका पर केन्द्र से मांगा जवाब

वहीं स्थानीय लोगों ने फैक्ट्री के पास हुई इस वारदात के बारे में पुलिस को भी जानकारी दी, जिसके बाद घटना स्थल पर पहुंची पुलिस ने मर्ग कायम कर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. वहीं जिस स्थान पर वारदात हुई है, पुलिस ने वहां आस-पास के इलाकों में पूछताछ शुरू कर दी है. वहीं घटना स्थल के पास ही लगे सीसीटीवी में यह पूरी वारदात कैद हो गई थी, जिसकी जांच करने पर पुलिस मामले की तह तक पहुंचने की कोशिश में जुटी है. पुलिस को मिले सीसीटीवी फुटेज में कुछ बदमाश हरिओम पर गोली चलाते दिख रहे हैं. जिसके बाद वह घटना स्थल से भाग जाते हैं.

मौसम अलर्टः दिल्ली में बढ़ा कोहरे का प्रकोप, ट्रैफिक और एयरसर्विस हुई प्रभावित

पुलिस के मुताबिक मामला आपसी रंजिश का लग रहा है. सीसीटीवी फुटेज देखकर ऐसा लग रहा है जैसे बदमाश काफी दिनों से हरिओम के आने-जाने के समय पर नजर रख रहे थे. साथ ही बदमाशों ने पहले ही इलाके की रैकी कर ली थी, तभी बदमाशों ने सुनसान इलाका देखने के बाद हरिओम पर गोली चला दी और वहां से भाग निकले. वहीं हरिओम की मौत के बाद उसके परिवार में मातम का माहौल है.

दिल्ली-रेवाड़ी के बीच अब 100 KM प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ेगी इलेक्ट्रिक लोकल

वहीं आस-पास के लोगों का कहना है कि गोली चलने के बाद वह जब तक घटना स्थल तक पहुंचते तब तक बदमाश घटना को अंजाम देकर भाग चुके थे. इसलिए वह उन्हें देख नहीं सके. वहीं हरिओम को गोली लगने से खून काफी बह चुका था, जिसके चलते हरिओम को अस्पताल तक लेकर पहुंचने में उसकी जान जा चुकी थी