दिल्ली मैंगो फेस्टिवल में चल रहा ऑफर, 100 रुपये है दाम-चाहे जितना खाओ आम

वर्ल्ड कप फीवर को देखते हुए आम के इस त्योहार में विराट का भी ज़िक्र है. क्रिकेट फैंस को लुभाने के लिए एक आम के प्रकार का नाम विराट के नाम पर भी रखा गया है.

दिल्ली मैंगो फेस्टिवल में चल रहा ऑफर, 100 रुपये है दाम-चाहे जितना खाओ आम
दिल्ली में टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए सालों से मैंगो फेस्टिवल मनाया जा रहा है जिसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं.

नई दिल्ली: दिल्ली में हर साल की तरह इस बार भी मैंगो फ़ेस्टिवल शुरू हो चुका है. देशभर से अलग-अलग क़िस्मों के आम की प्रदर्शनी यहां लगाई गई है. लेकिन एक स्टॉल जिसने सबकी नज़रें अपनी तरफ़ खींच लीं वो था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के नाम का आम. 

दिल्ली का 31वां मैंगो फ़ेस्टिवल जनकपुरी के दिल्ली हाट में 5 से 7 जुलाई के बीच चलेगा. सालों से चले आ रहे इस फेस्टिवल में हर साल हज़ारों की तादाद में लोग आते हैं. इस साल इस फ़ेस्टिवल में 500 से ज़्यादा तरह के आम की प्रदर्शनी लगाई गई हैं. लंगड़ा, चौसा, दशहरी, आमरूपालि, केसर जैसी कई वैरायटी देखने को मिलीं. लेकिन उन सबके बीच आम की ऐसी वैरायटी देखने को मिली जिस पर लोगों की भीड़ जमा होने शुरू हो गई. ये था अमित शाह और पीएम मोदी ने आम पर रखी गई आम की वैरायटी.

इसको बनाने वाले तो लखनऊ में हैं लेकिन उनके बेटे वसमी ने बताया कि ये आम जिसको नमो का नाम दिया गया है वो बाकी आमों से बहुत अलग है, बहुत मीठा और रसदार है और देखने मे भी बहुत ही खूबसूरत है. उन्होंने कहा कि पीएम मोदी और गृह मंत्री शाह ने देश के लिए बहुत कुछ किया है इसलिए उनके लिए आम की वैरायटी रखी है. 

वहीं, वर्ल्ड कप फीवर को देखते हुए आम के इस त्योहार में विराट का भी ज़िक्र है. क्रिकेट फैंस को लुभाने के लिए एक आम के प्रकार का नाम विराट के नाम पर भी रखा गया है. ये आम नाम से की तरह ही देखने मे भी काफी विराट है. आम की ये वैरायटी तैयार करने वाली नफीसा का कहना है कि विराट ने देश का नाम रोशन किया है इसीलिए हमने भी आम को विराट का नाम दिया है.

दिल्ली में टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए सालों से मैंगो फेस्टिवल मनाया जा रहा है जिसे लोग काफी पसंद कर रहे हैं. बच्चों से लेकर बूढों तक हर कोई आम के इस फेस्टिवल का मज़ा ले रहा है. यहां न सिर्फ आम की अलग अलग वैरायटी बल्कि आम के बने हुए प्रोडक्ट्स भी लोगों को पसंद आए. न सिर्फ आम खरीदने बल्कि लोगों के मनोरंजन का भी पूरा इंतज़ाम किया गया है. नाच गाने के साथ साथ तरह तरह के गेम्स भी यहां खिलाए जा रहे हैं. वैसे ही एक स्टाल पर हम पहुंचे जहां आम खाने का कंपीटिशन था. 100 रुपये में जितने चाहे आम खा सकते हैं सबसे ज़्यादा आम खाने वालों को 3000 का इनाम मिलेगा.

मिज़ोरम के पूर्व राज्यपाल अमोलन रतन कोहली ने कहा कि मैं दिल्ली टूरिस्म को बधाई देता हूं. अगर आम के बारे में कोई जानकारी लेनी हो तो यहां आ जाएं. अब आम की नई वैरायटी को व्यावसायिक बनाने की ज़रूरत है.