close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

'कॉफी विथ किरण' और 'चाय पे चर्चा' ने चंडीगड़ में पकड़ा जोर, टिकट पाने की मची होड़

विरोधी कांग्रेस खेमे में पूर्व रेल मंत्री पवन बंसल को पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी और नवजोत कौर सिद्धू से कड़ी टक्कर मिल रही है. नवजोत कौर सिद्धू पंजाब में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी हैं. 

'कॉफी विथ किरण' और 'चाय पे चर्चा' ने चंडीगड़ में पकड़ा जोर, टिकट पाने की मची होड़
.(फाइल फोटो)

चंडीगढ़: हाईप्रोफाइल चंडीगढ़ सीट के लिये एक तरफ चुनावी जंग कड़ी हो रही है वहीं भाजपा के अंदरखाने संभावित उम्मीदवारों ने टिकट पाने की दौड़ में अपने पक्ष को मजबूत दिखाने के लिए चाय बनाम कॉफी का सहारा लेना शुरू कर दिया है. पार्टी की मौजूदा सांसद अभिनेत्री से नेता बनीं किरण खेर ‘‘कॉफी विथ किरण’’ मुहिम चला रही हैं, वहीं शहर से भाजपा प्रमुख संजय टंडन इस सीट से चुनाव लड़ने की आस लगाये बैठे हैं और वह लोगों से जुड़ने के लिये ‘‘चाय पे चर्चा’’ कर रहे हैं. कॉफी मुहिम के तहत खेर पिछले पांच साल में किये गये अपने काम के भरोसे हर वर्ग के मतदाताओं से बात कर रही हैं जिसमें युवा से लेकर बुजुर्ग मतदाता शामिल हैं.

उन्हें केंद्र शासित राज्य के कर्मचारियों के आवासीय योजना में बदलाव को लेकर केंद्र की मंजूरी दिलाने का श्रेय जाता है, जो 2008 से ही लंबित थी. सांसद को केंद्र शासित क्षेत्र में सरकारी नौकरियों में प्रवेश की उम्रसीमा 18-25 से बढ़ाकर 18-37 कराने का भी श्रेय जाता है. साथ ही उनके द्वारा किये गये अन्य काम में पांच नये स्पोर्ट कॉम्प्लेक्स का निर्माण भी शामिल है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘‘चाय’’ सत्र से प्रेरित होकर टंडन चाय की चुस्कियों के साथ समर्थन जुटा रहे हैं और शहर की समस्याओं पर चर्चा कर हैं. आठ साल से अधिक समय से वह भाजपा की नगर इकाई के प्रमुख हैं. भाजपा की चंडीगढ़ इकाई में गुटबाजी है क्योंकि खेर और टंडन एक दूसरे के आलोचक रहे हैं. दोनों नेताओं ने कभी एकसाथ कार्यक्रम का आयोजन नहीं किया और दोनों विरले ही एक दूसरे के कार्यक्रमों में शरीक हुए.

विरोधी कांग्रेस खेमे में पूर्व रेल मंत्री पवन बंसल को पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी और नवजोत कौर सिद्धू से कड़ी टक्कर मिल रही है. नवजोत कौर सिद्धू पंजाब में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी हैं. लुधियाना से पूर्व सांसद मनीष तिवारी पिछले कुछ महीने से नियमित आधार पर जन सभाएं कर रहे हैं जबकि दूसरी ओर बंसल को यकीन है कि पार्टी उनमें विश्वास जतायेगी और चंडीगढ़ से उन्हें एक बार और चुनाव लड़ने का मौका मिलेगा.