X

DSP News

alt
दिल्ली हाईकोर्ट ने बुधवार को सीबीआई की उस अर्जी पर अपना आदेश सुरक्षित रख लिया, जिसमें सीबीआई ने घूसखोरी कांड में राकेश अस्थाना और DSP देवेन्द्र कुमार के खिलाफ जांच पूरा करने के लिए 10 हफ्ते की और मोहलत मांगी थी. दरअसल, इससे पहले सीबीआई ने राकेश अस्थाना खिलाफ जांच पूरा करने के लिए 6 महीने का वक्त मांगा था. आपको बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने रिश्वत के आरोपों पर राकेश अस्थाना के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने से इंकार कर दिया था.जस्टिस नाजमी वजीरी ने सीबीआई के डिप्टी एसपी देवेंद्र कुमार और कथित बिचौलिये मनोज प्रसाद के खिलाफ दर्ज एफआईआर रद्द करने से भी इंकार कर दिया था. हाईकोर्ट ने यह फैसला अस्थाना, कुमार और प्रसाद की याचिकाओं पर सुनाया था. इन तीनों में उनके खिलाफ दर्ज प्राथमिकी रद्द करने की मांग की थी. इस मामले में कोर्ट ने सीबीआई को 10 हफ्ते में जांच को पूरा करने का निर्देश दिया था.
May 22,2019, 13:22 PM IST
alt
अब बात करते हैं पुन्नूलाल की...जिसके संघर्ष की कहानी उन लोगों को हौसला देगी जो हालातों के आगे घुटने टेक देते हैं...दमोह के छोटे से गांव जामुन के रहने वाले पुन्नूलाल परस्ते कहानी तो उन युवाओं के लिए प्रेरणा का स्रोत है...जो अभाव के चलते अपने लक्ष्य को बीच में छोड़ देते हैं....मध्य प्रदेश पुलिस में DSP बने पुन्नूलाल के संघर्ष की कहानी बस इतनी जान लीजिए...कि उनके परिवार की इतनी हैसियत नहीं थी कि उन्हें पढ़ा लिखाकर पुलिस अफसर बनाएं...लेकिन कहते हैं कि हौसलों को आगे बुरे हालात भी पस्त हो जाते हैं...पुन्नूलाल के माता-पिता मजदूरी कर अपेन छोटे बेटे पुन्नूलाल को पढ़ाया...और पढ़ाई में होने वाले खर्च के लिए कर्ज कर्जा भी लिया...जब पुन्नूलाल परस्ते इंदौर PSC की तैयारी करने के लिए गए...तब उनकी जेब में सिर्फ 4 हजार रुपए थे...तंगहाली के चलते उन्होंने इंदौर से वापस अपने गांव आने का सोचा...लेकिन बड़े भाई और उनके माता-पिता ने मिलकर फिर 11 हजार रुपए का कर्जा लिया...इसी कर्जे से परस्ते ने अपनी आगे की पढ़ाई की और आज DSP का मुकाम हासिल किया...परस्ते ने स्कूली शिक्षा के दौरान गाय भैंस को जंगल में चराया...और जो लक्ष्य तय किया उसे कड़ी मेहनत और लगन से हासिल कर लिया...
Apr 3,2018, 20:57 PM IST
Read More

Trending news