close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

मराठावाड़ा क्षेत्रीय प्रशासन ने कहा- यहां गन्ने की खेती न की जाए, CM फडणवीस को सौंपी रिपोर्ट

महाराष्ट्र के मराठवाड़ा इलाके में गन्ने की खेती पर पाबंदी लाने की सिफारिश करने वाली रिपोर्ट क्षेत्रीय प्रशासन ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को सौंप दी है.

मराठावाड़ा क्षेत्रीय प्रशासन ने कहा- यहां गन्ने की खेती न की जाए, CM फडणवीस को सौंपी रिपोर्ट
मराठवाड़ा में लगभग तीन लाख हेक्टर जमीन पर गन्ना उगाया जाता है.

मुंबई: मराठवाड़ा क्षेत्रीय प्रशासन ने इलाके में गन्ने की खेती पर पाबंदी लाने की शिफारिश की है. प्रशासन ने इस आशय की रिपोर्ट मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस को सौंप दी है. मराठवाड़ा में लगभग तीन लाख हेक्टर जमीन पर गन्ना उगाया जाता है. गन्ने के लिए प्रति हेक्टर 196 लाख पानी की जरूरत होती है. 

मराठवाड़ा के सबसे बड़े बांध जायकवाड़ी के क्षमता से दोगुना पानी गन्ने को लगता है. सूखा पीड़ित मराठवाड़ा इलाके के में सिर्फ गन्ना खेती के लिए इतनी पानी का इस्तेमाल संभव नहीं है. मराठवाड़ा के लगभग डेढ़ लाख किसान गन्ना उगाते हैं.

अनुच्छेद 370 हटाने के खिलाफ याचिकाओं पर संविधान पीठ अक्टूबर में करेगी सुनवाई

गन्ने की पाबंदी के बाद यहां पर पानी का इस्तेमाल दालों की खेत के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है जिसका फायदा लगभग 22 लाख किसानों को हो सकता है. इसलिए रिपोर्ट में मराठवाड़ा में गन्ना खेती और चीनी मिलों पर पाबंदी लगाने की शिफारिश की गई है. 

एटीएम से 10 हजार रुपये निकालने के लिए जरूरी होगा OTP, इस बैंक ने बदला नियम

मराठवाड़ा सूखे की मार से जूझ रहा है. पिछले माह महाराष्ट्र सरकार ने राज्य के पिछड़ों क्षेत्रों विदर्भ, मराठवाड़ा और उत्तर महाराष्ट्र के लिए आज 21,222 करोड़ रूपये के विशेष पैकेज की घोषणा की थी. मराठावाड़ा क्षेत्र में कृत्रिम बारिश करवाने की बात भी कही गई है.