जॉर्ज फर्नांडिस दोबारा वियतनाम में जन्म लेना चाहते थे, बताई थी यह वजह

पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस ने एक बार कहा था, ‘‘अगर पुनर्जन्म जैसी कोई चीज है तो मैं दोबारा वियतनाम में जन्म लेना चाहूंगा.’’

जॉर्ज फर्नांडिस दोबारा वियतनाम में जन्म लेना चाहते थे, बताई थी यह वजह
जॉर्ज फर्नांडिस की 88 साल की उम्र में 29 जनवरी को निधन हो गया.(फाइल फोटो)

हैदराबाद: पूर्व रक्षा मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस ने एक बार कहा था, ‘‘अगर पुनर्जन्म जैसी कोई चीज है तो मैं दोबारा वियतनाम में जन्म लेना चाहूंगा.’’ बेंगलुरु में करीब 15 वर्ष पहले ‘कर्नाटक प्लांटर्स एसोसिएशन’के वार्षिक सम्मेलन को संबोधित करते हुए फर्नांडिस ने वियतनाम के लोगों को अनुशासित, प्रतिबद्ध और दृढ़ संकल्पी बताया था.

उन्होंने कहा था कि वियतनाम का दुनिया के कॉफी बाजार में बड़ा हिस्सा है. उन्होंने कहा था, ‘‘मुझे इससे कोई ईर्ष्या नहीं है. मैं वियतनाम का प्रशंसक हूं और तेज प्रगति के लिये दक्षिण पूर्व एशियाई देश और उसके लोगों की प्रशंसा करता हूं.’’ फर्नांडिस ने कहा था, ‘‘अगर पुनर्जन्म जैसी कोई चीज है, तो मैं वियतनाम में जन्म लेना चाहूंगा. वे अपनी प्रतिबद्धताओं के लिए जान न्योछावर करने को तत्पर रहते हैं.’’वियतनाम का दौरा करने वाले फर्नांडिस पहले रक्षा मंत्री थे.

'बागी' नेता जॉर्ज फर्नांडिस की जंजीरों में जकड़ी वह तस्‍वीर, जो इमरजेंसी की याद दिलाती है...

जॉर्ज फर्नांडिस का निधन
पूर्व रक्षा मंत्री एवं प्रख्यात समाजवादी नेता जॉर्ज फर्नांडिस का मंगलवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया. वह 88 वर्ष के थे. उनकी सहयोगी जया जेटली ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि फर्नांडिस अल्जाइमर बीमारी से पीड़ित थे, जिस कारण वह पिछले कई वर्षों से सार्वजनिक जीवन से दूर थे. हाल में उन्हें स्वाइन फ्लू भी हो गया था. जया जेटली ने बताया कि उनका निधन उनके आवास पर हुआ.

वाजपेयी सरकार में रहे रक्षा मंत्री
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली राजग सरकार में फर्नांडिस रक्षा मंत्री थे, जब 1999 में भारत ने करगिल युद्ध लड़ा था. उनके कार्यकाल के दौरान ही भारत ने 1998 में पोखरण में परमाणु परीक्षण किया था. इंदिरा गांधी को मात देकर 1977 में सत्ता में आई जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार में वह उद्योग मंत्री भी रहे.

पीएम मोदी ने जताया शोक
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समाजवादी नेता के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह स्पष्टवादी तथा निडर थे जो हमेशा अपनी विचारधारा पर अडिग रहे. प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘एक दूरदर्शी रेल मंत्री और एक महान रक्षा मंत्री जिसने भारत को सुरक्षित और मजबूत बनाया. अपने कई वर्षों के सार्वजनिक जीवन में वह अपनी विचारधारा पर अडिग रहे. उन्होंने आपातकाल का जोरदार विरोध किया. उनकी सादगी और विनम्रता उल्लेखनीय थी.’’

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी फर्नांडिस के निधन पर शोक जाहिर कर उनके परिवार और दोस्तों के प्रति संवेदना व्यक्त की. गांधी ने फेसबुक पोस्ट में कहा, 'पूर्व सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री जॉर्ज फर्नांडिस जी के निधन के बारे में सुनकर दुख हुआ.' उन्होंने कहा, 'दुख की इस घड़ी में उनके परिवार और मित्रों के प्रति मेरी संवेदना है.'

(इनपुट: एजेंसी भाषा से)