वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए 44 जोड़े रैक खरीदेगी भारतीय रेलवे, हर ट्रेन में होंगे 16 कोच

इन ट्रेनों के परिचालन से यात्रियों को कम से कम चार घंटे की बचत हो रही है.

वंदे भारत एक्सप्रेस के लिए 44 जोड़े रैक खरीदेगी भारतीय रेलवे, हर ट्रेन में होंगे 16 कोच
इन सभी ट्रेनों के परिचालन के बाद लगभग 20 फीसदी समय की बचत होगी. (फाइल फोटो)

नई दिल्ली: वंदे भारत एक्सप्रेस (Vande Bharat Express) के लिए भारतीय रेलवे (Indian Railway) चेन्नई स्थित इंटीग्रेटेड रेल कोच फैक्ट्री से 44 और रैक खरीदेगी. इसके लिए चेन्नई की रेल कोच फैक्ट्री ने निविदा भी आमंत्रित की है जो 44 जोड़े ट्रेनों के लिए इलेक्ट्रिक साजो सामान और अन्य पार्ट्स के लिए होगा. हर ट्रेन में 16 कोच होंगे. इन सभी ट्रेनों के परिचालन के बाद लगभग 20 फीसदी समय की बचत होगी.

रेलवे के अनुसार, यह प्रकिया बहुत पारदर्शी होगी. प्रधानमंत्री मोदी ने पहली वंदे भारत एक्सप्रेस को 15 फरवरी को हरी झंडी दिखाई थी. यह ट्रेन दिल्ली और वाराणसी के बीच चलाई गई थी. दूसरी ट्रेन को गृह मंत्री अमित शाह ने 3 अक्टूबर को हरी झंडी दिखाई. यह ट्रेन नई दिल्ली और माता वैष्णो देवी कटरा के बीच चलाई जा रही है. दोनों ही ट्रेन की गति ज्यादा है.

ये ट्रेनें 130 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ती हैं. इन ट्रेनों के परिचालन से यात्रियों को कम से कम चार घंटे की बचत हो रही है. गौरतलब है कि वंदे भारत ट्रेन प्रधानमंत्री मोदी की 'मेक इन इंडिया' के परिकल्पना के तहत चलाई जा रही है.