close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

आतंकियो की भर्ती वाले जैश के मोबाइल एप का पता चला, NIA अमेरिकी मदद से खोलेगी बड़े राज

  लाल किला के पास से पिछले दिनों पकड़े गए जैश ए मोहम्मद के आतंकी सज्जाद खान के मोबाइल से एनआईए को कश्मीर में मौजूद आतंकियों  के नेटवर्क के बारे में अहम जानकारी मिली है. एनआईए जहां सज्जाद के कॉल डिटेल्स की जानकारी जुटा रही है.

आतंकियो की भर्ती वाले जैश के मोबाइल एप का पता चला, NIA अमेरिकी मदद से खोलेगी बड़े राज

नई दिल्‍ली: राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को आतंकी संगठन जैश के उस मोबाइल एप के बारे में जानकारी मिली है, जिसके जरिये जैश-ए मोहम्मद आतंकियो की भर्ती करता है. NIA इस एप के जरिए जैश ए मोहम्मद के नेटवर्क को खंगालने के लिए अमेरिकन एजेंसियों की मदद लेगी. दिल्ली के लाल किले के पास से पिछले दिनों पकड़े गए जैश ए मोहम्मद के आतंकी सज्जाद खान के मोबाइल से एनआईए को कश्मीर में मौजूद आतंकियों  के नेटवर्क के बारे में अहम जानकारी मिली है. एनआईए जहां सज्जाद के कॉल डिटेल्स की जानकारी जुटा रही है, वहीं ये भी पता चला है कि वो 'textnow 'नाम के एक खास एप के जरिये दूसरे आतंकियो के संपर्क में था.

एनआईए के एक अधिकारी के मुताबिक, सज्जाद से पूछताछ में हमें textnow नाम के एप की जानकारी मिली है. इसके जरिये सज्जाद पुलवामा हमले में शामिल आतंकियो के सम्पर्क में था. इस एप का सर्वर अमेरिका में है. ऐसे में हम अमेरिकन एजेंसी से जल्द सम्पर्क करेंगे.
राष्‍ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) के सूत्रों के मुताबिक पाकिस्‍तान समर्थित आतंकी संगठन जैश आतंकियों की भर्ती के लिए textnow नाम के मोबाइल एप का इस्तेमाल कर रहा है. दिल्ली में गिरफ्तार जैश आतंकी सज्जाद खान दिल्ली और आसपास स्लीपर सेल बनाने की साजिश रच रहा था.

NIA सूत्रों के मुताबिक जैश के आकाओं के कहने पर सज्‍जाद खान पुलवामा में हुए हमले के बाद आतंकियों की भर्ती के लिए 'textnow' नाम के एप के जरिये दूसरे आतंकियों के संपर्क में था. खुफिया एजेंसी ने textnow नाम के इस मोबाइल एप का पता लगा लिया था, जिसके बाद सज्जाद पर लगातार नजर रखी जा रही थी. पुलवामा हमले के तुरंत बाद जैश के कमांडर मुदासिर ने textnow एप के जरिये सज्जाद की मेसेज भी भेजा था.