close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जम्‍मू-कश्‍मीर: मौसम का बिगड़ा मिजाज प्रभावित कर सकता है अमरनाथ यात्रा

अमरनाथ यात्रा मार्ग पर अधिकांश जगह तेज हवाओं के साथ शुरू हुई बारिश, 10 जुलाई तक बारिश जारी रहने की है संभावना. 

जम्‍मू-कश्‍मीर: मौसम का बिगड़ा मिजाज प्रभावित कर सकता है अमरनाथ यात्रा
4 जुलाई को जम्‍मू के बेस कैंप से अमरनाथ यात्रा के लिए 5522 श्रद्धालुओं को रवाना किया गया है. (फोटो: ITBP)

नई दिल्‍ली: मौसम का बिगड़ा मिजाज अमरनाथ यात्रा को प्रभावित कर सकता है. अमरनाथ यात्रा रूट पर अधिकांश जगहों पर तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है. हालांकि यह बात दीगर है कि यात्रा के लिहाज से मौजूदा बारिश को खतरनाक नहीं माना जा रहा है. नतीजतन, प्रशासन ने यात्रा को जारी रखने का फैसला किया है. श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड के अनुसार, 3 जुलाई तक कुल 33694 श्रद्धालु सफलता पूर्वक बाबा बर्फानी के दर्शन कर चुके हैं.  

अभी बारिश नहीं है खतरा, जारी है अमरनाथ यात्रा 
श्री अमरनाथ जी श्राइन बोर्ड के द्वारा जारी किए गए मौसम बुलिटेन में बताया गया है कि अमरनाथ यात्रा के अंतर्गत आने वाले मार्गों पर बारिश का दौर शुरू हो चुका है. जिन स्‍थानों पर बारिश हो रही है, उनमें जम्‍मू, बटोटे, पहलगाम शामिल हैं. इसके अलावा, बनिहाल, गाजीकुंड और श्रीनगर में बारिश के बाद घिरे हुए हैं. अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, यात्रा के लिहाज से अभी तक बारिश किसी तरह से बाधा नहीं है. जिसके चलते अभी यात्रा को रोकने का फैसला नहीं लिया गया है. 

जम्‍मू से अमरनाथ यात्रा के लिए रवाना हुए 5522 श्रद्धालु 
अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा से जुड़े वरिष्‍ठ अधिकारी के अनुसार, 4 जुलाई को जम्‍मू बेस कैंप से अमरनाथ यात्रा के लिए कुल 5522 श्रद्धालु रवाना हुए हैं. जिसमें 106 वाहनों से सुबह करीब 2:50 बजे 2520 श्रद्धालुओं को बालटाल के लिए रवाना किया गया है. वहीं पहलगाम के लिए 129 वाहनों से 3002 श्रद्धालुओं को आज सुबह करीब 3:40 बजे रवाना किया गया है. बालटाल और पहलगाम पहुंचने के बाद ये श्रद्धालु बाबा बर्फानी के दर्शन के लिए पैदल रवाना होंगे.