प्रदूषण : SC के जज ने कहा- 'मैं इस कारण अपने शपथ ग्रहण समारोह को मिस करने वाला था'

प्रदूषण : SC के जज ने कहा- 'मैं इस कारण अपने शपथ ग्रहण समारोह को मिस करने वाला था'

कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि दिल्ली में अब बस प्रदूषण और ट्रैफिक जाम की समस्या रह गई है. 

नई दिल्ली : राजधानी दिल्ली की वायु गुणवत्ता मामले पर शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली में प्रदूषण मामले की सुनवाई के दौरान टिप्पणी करते हुए कहा कि दिल्ली रहने लायक नहीं रह गई है. कोर्ट ने कहा कि एक वक्त ऐसा भी था जब दिल्ली लोगों को आकर्षित करती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं रह गया है. 

बस प्रदूषण और जाम 
कोर्ट ने टिप्पणी करते हुए कहा कि दिल्ली में अब बस प्रदूषण और ट्रैफिक जाम की समस्या रह गई है. सुनवाई के दौरान जज अरूण मिश्रा ने कहा कि आज तो हालात ये हो गए कि मैं जज के शपथ ग्रहण समारोह ही मिस करने वाला था. कोर्ट ने कहा कि दिल्ली के हालातों के प्रति सिर्फ सरकार और प्रशासन को नहीं बल्कि आम जनता को भी सतर्क रहने की आवश्यकता है.

क्या है वायु प्रदूषण का स्तर
राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार सुबह सर्द व धुंध भरी रही. राजधानी का न्यूनतम तापमान मौसम के औसत तापमान से दो डिग्री कम 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के एक अधिकारी ने कहा, "शहर में सुबह हल्के से घना कोहरा छाया रहा. दिन में बारिश होने के आसार नहीं हैं."

हालांकि, दिल्ली व आसपास के इलाकों में शुक्रवार को वायु की गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में बनी रही. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी)के अनुसार, दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 411 दर्ज किया गया.

ये भी देखे

Trending news