नेताई गांव में अंधाधुन गोलीबारी का शिकार हुए लोगों को ममता बनर्जी ने किया याद

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के कार्यकर्ताओं की ओर से कथित तौर पर की गई इस गोलीबारी में महिलाओं समेत नौ लोग मारे गए थे और करीब 28 लोग घायल हो गए थे. 

नेताई गांव में अंधाधुन गोलीबारी का शिकार हुए लोगों को ममता बनर्जी ने किया याद
फाइल फोटो

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज ही के दिन 2011 में नेताई गांव में अंधाधुंध गोलीबारी के शिकार हुए लोगों को सोमवार को याद किया. इस घटना के दौरान राज्य में वाम मोर्चे की सरकार थी. 

मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) के कार्यकर्ताओं की ओर से कथित तौर पर की गई इस गोलीबारी में महिलाओं समेत नौ लोग मारे गए थे और करीब 28 लोग घायल हो गए थे. 

बनर्जी ने सोमवार को ट्वीट किया, “सात जनवरी 2011 को पश्चिम मेदिनीपुर जिले के नेताई गांव में आसामाजिक तत्वों के एक धड़े की ओर से की गई अंधाधुंध गोलीबारी में मासूम गांववाले मारे गए थे. मृतकों को मेरी भावभीनी श्रद्धांजलि.” 

सीबीआई ने 2014 में नेताई नरसंहार में 20 लोगों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया था.

(इनपुट भाषा)