नागरिकता संशोधन विधेयक पर PM मोदी का ट्वीट, 'नागरिकता कानून पर हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण'

पीएम मोदी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए लिखा, 'यह शांति, एकता और भाईचारा बनाए रखने का समय है. सभी से अपील है कि किसी भी तरह की अफवाह और झूठ से दूर रहें.'

नागरिकता संशोधन विधेयक पर PM मोदी का ट्वीट, 'नागरिकता कानून पर हिंसा दुर्भाग्यपूर्ण'

नई दिल्ली: नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship Amendment Act) पर देश के कई शहरों में हो रहे हिंसक प्रदर्शनों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने दुर्भाग्यपूर्ण बताया है. पीएम मोदी ने कहा है कि विरोध के नाम पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचना और दूसरों की जिंदगी में दखल देना गलत है. सोमवार को अपने ऑफिशियल ट्विटर अकाउंट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लिखा, 'नागरिकता संशोधन अधिनियम पर हिंसक विरोध दुर्भाग्यपूर्ण और गहरा दुखद है. बहस, चर्चा और असंतोष लोकतंत्र के आवश्यक अंग हैं, लेकिन कभी भी सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचा है और सामान्य जीवन की अशांति हमारे लोकाचार का हिस्सा है.'

पीएम मोदी ने आगे लिखा, 'नागरिकता संशोधन अधिनियम, 2019 संसद के दोनों सदनों द्वारा भारी समर्थन के साथ पारित किया गया था. बड़ी संख्या में राजनीतिक दलों और सांसदों ने इसके पारित होने का समर्थन किया. यह अधिनियम भारत की सदियों पुरानी संस्कृति की स्वीकृति, सद्भाव, करुणा और भाईचारे को दर्शाता है....

यह भी पढ़ें- जामिया प्रशासन ने कहा, 'यूनिवर्सिटी में बाहरी लोग घुस रहे हैं, 750 फर्जी आईकार्ड मिले हैं'

...मैं अपने साथी भारतीयों को असमान रूप से आश्वस्त करना चाहता हूं कि सीएए किसी भी धर्म के भारत के नागरिक को प्रभावित नहीं करता है. किसी भारतीय को इस अधिनियम के बारे में चिंता करने की कोई बात नहीं है.'

प्रधानमंत्री ने आगे लिखा, 'यह अधिनियम केवल उन लोगों के लिए है, जिन्होंने वर्षों से उत्पीड़न का सामना किया है और भारत को छोड़कर उनके पास जाने के लिए कोई अन्य जगह नहीं है.समय की मांग है कि हम सभी भारत के विकास और प्रत्येक भारतीय, विशेषकर गरीब, दलित और हाशिए पर बैठे लोगों के सशक्तिकरण के लिए मिलकर काम करें. हम निहित स्वार्थ समूहों को हमें विभाजित करने और अशांति पैदा करने की अनुमति नहीं दे सकते.'

यह भी पढ़ें- दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर छात्रों का प्रदर्शन, ZEE NEWS संवाददाता के साथ बदसलूकी

पीएम मोदी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करते हुए लिखा, 'यह शांति, एकता और भाईचारा बनाए रखने का समय है. सभी से अपील है कि किसी भी तरह की अफवाह और झूठ से दूर रहें.'