जानिए, अमित शाह ने क्यों कहा- राहुल इसलिए नहीं समझते क्योंकि वह इतालवी चश्मा पहनते हैं

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि "राहुल बाबा और हेमंत (सोरेन) का कहना है कि अनुच्छेद 370 और कश्मीर के बारे में क्यों बात करते हैं. राहुल बाबा, आप समझ नहीं रहे क्योंकि आप इतालवी चश्मा पहन रहे हैं.

जानिए, अमित शाह ने क्यों कहा- राहुल इसलिए नहीं समझते क्योंकि वह इतालवी चश्मा पहनते हैं
अमित शाह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दे दिया है और चार महीने में भव्य राम मंदिर बनेगा.

रांची: केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी 'इतालवी चश्मा' पहन रहे हैं. अमित शाह ने झारखंड के पाकुड़ में एक रैली में कहा, "राहुल बाबा और हेमंत (सोरेन) का कहना है कि अनुच्छेद 370 और कश्मीर के बारे में क्यों बात करते हैं. राहुल बाबा, आप समझ नहीं रहे क्योंकि आप इतालवी चश्मा पहन रहे हैं. झारखंड के हजारों युवा सीआरपीएफ, बीएसएफ और सेना में कश्मीर के लिए अपना जीवन कुर्बान कर रहे हैं."

गृहमंत्री ने कहा, "पूरा देश चाहता है कि कश्मीर देश का अभिन्न हिस्सा बने."उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 को रद्द किए जाने के बाद कश्मीर देश का अभिन्न हिस्सा बन चुका है. कश्मीर अब भारत का ताज है.

उन्होंने कहा, "कांग्रेस व जेएमएम का कहना है कि झारखंड को देश की सुरक्षा से क्या करना है. मुझे बताएं कि क्या झारखंड के लोगों को देश की सुरक्षा की चिंता है या नहीं?" उन्होंने कहा, "संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन के 10 साल के शासन में पाकिस्तान से भारत में घुसपैठ होती थी और सेना के जवानों के सिर काटे जाते थे. जब मोदी प्रधानमंत्री हुए उन्होंने (पाकिस्तान) उरी व पुलवामा में ऐसा किया. वे भूल गए कि यह मौनी बाबा की सरकार नहीं है, बल्कि 56 इंच की मोदी सरकार है. भारत ने एक सर्जिकल एयर स्ट्राइक किया और आतंकवादियों को तबाह कर दिया."

शाह ने कहा, "मुझे बताएं राहुल व हेमंत की सरकार क्या देश की सुरक्षा कर सकती है. भारत मोदी के नेतृत्व में सुरक्षित है. मोदी के हाथों को मजबूत करने के लिए भाजपा को वोट करें." उन्होंने राम जन्मभूमि के मुद्दे को लंबित रखने के लिए कांग्रेस की निंदा की.

शाह ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दे दिया है और चार महीने में भव्य राम मंदिर बनेगा. कांग्रेस पार्टी न तो देश को विकसित कर सकी और न ही रक्षा कर सकी. अगर आप देश को सुरक्षित नहीं रख सकते या जनादेश का सम्मान नहीं कर सकते तो लोग आपको सत्ता में क्यों लाएंगे."