close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बीकानेर जेल में फिर शुरू होगा गलीचे बनाने का काम, कैदियों को मिलेगा प्रशिक्षण

बीछवाल में नई जेल बनने के बाद से गलीचे बनाने का काम बंद हो गया और एक लूप को यहां से जयपुर भेज दिया गया था. अब एक बार फिर बीकानेर जेल में गलीचे बनाने का काम शुरू किया जाएगा.

बीकानेर जेल में फिर शुरू होगा गलीचे बनाने का काम, कैदियों को मिलेगा प्रशिक्षण
रियासतकाल में बीकानेर जेल में बंदियों द्वारा गलीचे बनाए जाते थे.

बीकानेर/ रौनक व्यास: राजस्थान के बीकानेर की सेन्ट्रल जेल के सजायाफ्ता कैदी अब सुंदर गलीचे भी बनाएंगे. फिलहाल यहां के कैदी ऊन की कताई से धागा बनाने का काम कर रहे हैं जो उन्हें सिखाया जा रहा है. जिसके बाद अब रियासतकाल में बनने वाले सुंदर गलीचे एक बार फिर ना केवल इस जेल की शोभा बढ़ाएंगे बल्कि यहां सजा काट रहे कैदियो को रोजगार भी उपलब्ध करवाएंगे. 

बीछवाल में नई जेल बनने के बाद से गलीचे बनाने का काम बंद हो गया और एक लूप को यहां से जयपुर भेज दिया गया था. अब एक बार फिर बीकानेर जेल में गलीचे बनाने का काम शुरू किया जाएगा. जयपुर की एक निजी कंपनी ने इसका जिम्मा लिया है और जेल में बंदियों को चरखे से ऊन की कताई कर धागा बनाना सिखाया जा रहा है. कंपनी की ओर से बीकानेर जेल में 20 चरखे और रॉ मैटेरियल उपलब्ध करवाया गया है. करीब दो माह तक 20 बंदियों को ऊन का धागा बनाना सिखाया जाएगा और उसके बाद सश्रम कारावास के बंदी गलीचे बनाने का काम शुरू करेंगे. 

बीकानेर जेल अधीक्षक परमजीत सिंह सिद्धू के अनुसार जेल के बंदी इस काम को बड़ी शिद्दत से सीख रहे हैं और जल्द ही उनके द्वारा बनाए गलीचे ना केवल राजस्थान बल्कि अन्य राज्यों में भी सप्लाई किए जाएंगे. अधीक्षक के अनुसार रियासतकाल में बीकानेर जेल में बंदियों द्वारा गलीचे बनाए जाते थे जो अंग्रेज अधिकारीयों को खूब पसंद आते थे. सिद्धू के अनुसार यहां बने गलीचो की तस्वीरें देख बालीवूड सितारों ने भी गलीचे खरीदने की इच्छा जताई है और जयपुर की निजी कम्पनी गलीचे बनाए जाने का काम दिखाने के लिए फिल्मी सितारों को जेल का भ्रमण भी करवा सकती है. 

बीकानेर जेल के बंदियों द्वारा शुरू किए गए इस कार्य से उन्हें ना केवल अपराधो को भूल कर मुख्य धारा में लोटने का अवसर मिल रहा है बल्कि उनकी आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी. जेल प्रशासन की प्रेरणा से शुरू हुए इस कार्य की बदोलत जेल के बंदी अब गलीचे बनाते वक्त फिल्मी सितारों से मुलाकत की हसरते भी पालने लगे है.