छबड़ा विधायक Singhvi का बड़ा बयान, Rajasthan में वसुंधरा ही दिला सकती हैं BJP का राज

छबड़ा विधायक प्रताप सिंह सिंघवी (Pratap Singh Singhvi) ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) को किनारे करने की चर्चाओं को कोरी अफवाह करार दिया है. 

छबड़ा विधायक Singhvi का बड़ा बयान, Rajasthan में वसुंधरा ही दिला सकती हैं BJP का राज
सिंघवी ने कहा कि वसुंधरा राजे में वोटों को 15 से 20 फीसदी स्विंग करने की क्षमता है.

Baran: पूर्व विधायक प्रहलाद गुंजल (Prahlad Gunjal) और भवानी सिंह राजावत (Bhawani Singh Rajawat) के बाद अब छबड़ा से विधायक प्रताप सिंह सिंघवी (Pratap Singh Singhvi) भी वसुंधरा राजे के समर्थन में खुलकर सामने आए हैं. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान के सियासी हालातों पर पायलट 'मौन', दिल्ली से जयपुर लौटने पर भी नहीं तोड़ी चुप्पी

छबड़ा विधायक प्रताप सिंह सिंघवी (Pratap Singh Singhvi) ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) को किनारे करने की चर्चाओं को कोरी अफवाह करार दिया है. उन्होंने कहा कि वसुंधरा राजस्थान (Rajasthan) ही नहीं, देश की बड़ी नेता हैं. 

यह भी पढ़ें- राजस्थान में सियासी घमासान के बीच PCC चीफ डोटासरा बोले-कांग्रेस में होगा कार्यकर्ताओं का मान-सम्मान

प्रदेश में जितनी लोकप्रियता राजे की है, उतनी किसी दूसरे नेता की नहीं है. उनका कोई विकल्प नहीं है. वसुंधरा प्रदेश में जहां भी जाती हैं, उन्हें देखने और सुनने के लिए जनसैलाब उमड़ता है. जनता को एकत्रित करने की यह खूबी देश के चुनिंदा नेताओं के पास ही है. वसुंधरा राजे को प्रदेश की 36 कौम का समान रूप से समर्थन प्राप्त है. वे किसी जाति विशेष या क्षेत्र विशेष की नेता नहीं हैं.

प्रदेश में पहली बार पूर्ण बहुमत की सरकार राजे के नेतृत्व में ही बनी
सिंघवी ने कहा कि वसुंधरा राजे में वोटों को 15 से 20 फीसदी स्विंग करने की क्षमता है. इसी का परिणाम है कि प्रदेश में पहली बार पूर्ण बहुमत की सरकार उनके नेतृत्व में ही बनी. 2003 के विधानसभा चुनाव में भाजपा को 120 सीटें मिलीं जबकि कांग्रेस महज 56 सीटों पर सिमट गई. 2008 के चुनाव में भाजपा हारी जरूर, लेकिन कड़ी टक्कर में भाजपा को 78 सीटें मिली जबकि कांग्रेस को 96 सीटें.

वसुंधरा राजे ही भाजपा की सर्वमान्य और सर्वाधिक शक्तिशाली नेता
सिंघवी ने कहा कि 2013 के विधानसभा चुनाव में वसुंधरा राजे के नेतृत्व में भाजपा ने 163 सीटों के साथ प्रचंड बहुमत हासिल किया जबकि कांग्रेस मात्र 21 सीटें जीत पाई. उन्होंने कहा कि 2018 के विधानसभा चुनाव में कुछ लोगों ने साजिश के तहत एक नारा चलाया. बावजूद इसके भाजपा ने 73 सीटों पर जीत दर्ज की. आंकड़ों से साफ जाहिर होता है कि राजस्थान में वसुंधरा राजे ही भाजपा की सर्वमान्य और सर्वाधिक शक्तिशाली नेता हैं.

Reporter- Ram Mehta