close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान बजट: गहलोत सरकार ने की 75 हजार नई सरकारी भर्तियों की घोषणा

विधानसभा में बजट पेश करते हुए गहलोत ने कहा 'हम युवाओं की अपेक्षा समझते हैं. युवाओं को कौशल विकास उच्च शिक्षा और रोजगार उपलब्ध करवाना हमारी प्राथमिकता है.'

राजस्थान बजट: गहलोत सरकार ने की 75 हजार नई सरकारी भर्तियों की घोषणा
राजस्थान सरकार ने युवाओं को स्वरोजगार के लिए 1 लाख तक का कर्ज देने की घोषण की.

जयपुर: प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधानसभा में बजट पेश कर दिया है. वहीं गहलोत सरकार ने राजस्थान बजट 2019 में बेरोजगारों, युवाओं और विद्यार्थियों के लिए भी कई बड़ी घोषणाएं की हैं. गहलोत सरकार ने वादे के मुताबिक बेरोजगारी पर ध्यान देते हुए 75 हजार नई भर्तियों की घोषणा की गई है.

विधानसभा में बजट पेश करते हुए गहलोत ने कहा यकीन से आगे बढ़ना है, बहुत कुछ करना है. हम सच्चे सिद्धांतों पर राजनीति करते हैं. हम युवाओं की अपेक्षा समझते हैं. युवाओं को कौशल विकास उच्च शिक्षा और रोजगार उपलब्ध करवाना हमारी प्राथमिकता है. 

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत विधानसभा में बजट युवा रोजगार योजना की घोषणा भी करते हुए कहा गया है कि इससे 25000 युवाओं को जोड़ा जाएगा. वहीं प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मुंबई जाने वाले युवाओं को राजस्थान भवन में मिलेगी ठहरने की सुविधा दी जाएगी. मुख्यमंत्री ने कन्यादान योजना की घोषणा, पात्र कन्याओं को 21000 की सहायता, अल्पसंख्यक समुदाय की बेटियों को लिए अलवर में छात्रावास शीघ्र शुरू किया जाएगा. 

वहीं शिक्षा पर भी जोर दिया. गहलोत सरकार ने की पिछली सरकार के बंद किए 3 कॉलेज फिर से शुरू करने की घोषणा. सभी वंचित उपखंड मुख्यालयों पर चरणपबद्ध ढंग से कॉलेज खोलेंगे. साथ ही खेल प्रशिक्षकों की सेवाएं लेने के लिए 5 करोड़ का प्रावधान स्वीकृत करने की घोषणा की. गहलोत सरकार मदरसों में स्मार्ट क्लास के लिए 10 करोड़ की योजना की बात कही. राज्य के लिए नई शिक्षा नीति बनाई जायेगी. 

राजस्थान सरकार ने युवाओं को स्वरोजगार के लिए 1 लाख तक का कर्ज देने की घोषण की. वहीं स्टार्टअप के लिए डेढ़ लाख रुपए तक के स्टांप ड्यूटी को समाप्त करने की बात कही. अशोक गहलोत ने अपने बजट में 50 नए प्राथमिक विद्यालय खोले जाने की घोषणा की है. राज्य के लिए नवीन शिक्षा नीति बनाई जाएगी. 14 हजार से ज्यादा कक्षाएं, प्रयोगशालाएं बनेंगे और 500 सैकंड्री स्कूल हायर सैंकड्री में क्रमोन्नत होंगे.

साथ ही सरकार ने युवाओं को नशे से मुक्ति दिलाने के लिए भी प्रतिबद्ध नजर आई. प्रदेश के युवा पान मसाला, तंबाकू सेवन से दूर इसलिए मजबूत कार्य योजना बनाकर अभियान चलायें जायेंगे. साथ ही शराब बंदी के लिए प्राण त्याग करने वाले गुरुचरण छाबड़ा की स्मृति में कॉलेज का नामकरण भी किया जाएगा. राजधानी जयपुर में 21 करोड़ की लागत से करियर कॉउंसलिंग सेंटर बनाया जाएगा.