झालावाड़ में मौसम ने ली करवट, तापमान में हुई भारी गिरावट

झालावाड़ में विजिबिलिटी 100 मीटर से भी कम रहने से सुबह तक बड़ी इमारतें भी कोहरे के आगोश में गायब सी नजर आई.

झालावाड़ में मौसम ने ली करवट, तापमान में हुई भारी गिरावट
झालावाड़ शहर के तापमान में और गिरावट दर्ज होगी.

महेश परिहार/झालावाड़: राजस्थान के झालावाड़ में बीती रात को मौसम के तापमान में भारी गिरावट दर्ज हुई. न्यूनतम तापमान 7 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ. साथ ही, घने कोहरे और गलन के चलते आम जनजीवन भी बुरी तरह प्रभावित रहा.  सुबह 8:00 बजे तक झालावाड़ शहर घने कोहरे के आगोश में लिपटा नजर आया. जिसके चलते वाहन चालकों को हेड लाइट जलाकर सड़कों पर रेंगते हुए गुजरना पड़ा. 

यहां तक कि, झालावाड़ में विजिबिलिटी 100 मीटर से भी कम रहने से सुबह तक बड़ी इमारतें भी कोहरे के आगोश में गायब सी नजर आई. वहीं, कोहरे के चलते गलन में भी काफी इजाफा दिखाई दिया, जिसके चलते आम नागरिक अलाव का सहारा लेते दिखे. वहीं, मौसम विभाग की मानें तो अगले 2 दिनों में झालावाड़ शहर के तापमान में और गिरावट दर्ज होगी जो आमजन के लिए मुश्किलें बढ़ा सकती है.

वहीं, प्रदेश के दूसरे इलाकों की बात करें तो बारां जिले के छीपाबडौद क्षेत्र में हुई बरसात लोगों के लिए परेशानी का कारण बनी हुई है. जबकि, उतरी भारत में लगातार हो रहे पश्चिमि विक्षोभ के चलते सरहदी जिले पोकरण में भी सर्दी के तेवर तेज हो गए है. तेज सर्द हवाओं के चलते आम जन को झक झोर कर रख दिया.  बुधवार को अचानक मौसम ने करवट बदली व तेज सर्द हवाओं के चलते लोगो को धूजणी छुड़ा दी. तापमान में 7 से 10 डिग्री अचानक गिरावट दर्ज की गई, जिससे लोगो को घरों में दुबकने को मजबूर होना पड़ा. 

वहीं, मंगलवार की रात सर्द हवाओं का दौर शुरू हो गया, जो बुधवार अल सुबह से जारी है. साथ ही अल सुबह आसमान में घना कोहरा छा गया. सर्दी में यात्रियो को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. सर्दी के तेवर तेज होने के चलते आम जन की दिनचर्या में बदलाव के साथ ही लोग अलाव ताप से सर्दी से बचने का जतन कर रहे है.

साथ ही, सरहदी जिले का चाधन व नहरी इलाका सबसे सर्द रहा, जिससे दोनों क्षेत्रों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है, लोगो का घरों ने निकलना दूभर हो गया है. नोख नाचना सहित सभी क्षेत्रो में भी कोहरा छाया हुआ है. ग्रामीण इलाकों में गहन कोहरा होने से ग्रामीण रूट व शहरी रूट की बसे देरी से गंतव्य स्थान पर पहुंच रही है.