भगवान राम केवल हिंदुओं के नहीं, बल्कि मुसलमानों के भी पूर्वज थे: योग गुरु रामदेव

एक सवाल के जवाब में योग गुरु रामदेव ने कहा, "मेरा दृढ़ मानना है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. अगर अयोध्या में नहीं हुआ, तो आप इसे कहां बनाएंगे?  

भगवान राम केवल हिंदुओं के नहीं, बल्कि मुसलमानों के भी पूर्वज थे: योग गुरु रामदेव

अहमदाबाद: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को राष्ट्र के गौरव से जुड़ा बताते हुए योग गुरु रामदेव ने शुक्रवार को कहा कि भगवान राम केवल हिंदुओं के नहीं, बल्कि मुसलमानों के भी पूर्वज थे. रामदेव ने अहमदाबाद से लगभग 70 किलोमीटर दूर खेड़ा जिले के नडियाद शहर में पत्रकारों से कहा कि राम मंदिर का मुद्दा वोट बैंक की राजनीति से जुड़ा नहीं है.

एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, "मेरा दृढ़ मानना है कि अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए. अगर अयोध्या में नहीं हुआ, तो आप इसे कहां बनाएंगे? यह स्पष्ट है कि यह मक्का, मदीना या वेटिकन सिटी में तो बनेगा नहीं." 

रामदेव संतराम मंदिर द्वारा आयोजित एक योग शिविर में भाग लेने के लिए आए थे. उन्होंने दावा किया, "यह एक निर्विवाद तथ्य है कि अयोध्या भगवान राम की जन्मभूमि है. भगवान राम केवल हिंदुओं के ही नहीं, बल्कि मुसलमानों के भी पूर्वज थे. राम मंदिर का यह मुद्दा देश के गौरव से जुड़ा है. इसका वोट बैंक की राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है."  

 

 

विपक्षी कांग्रेस ने रामदेव पर जवाबी हमला करते हुए कहा कि उनके जैसे धार्मिक नेता सत्तारूढ़ बीजेपी के 'लाभार्थी' है और चुनावों में जीत दिलाने में पार्टी की मदद के लिए इस तरह के बयान देते है. गुजरात कांग्रेस प्रवक्ता मनीष दोषी ने कहा, ‘‘बाबा रामदेव जैसे लोग सत्तारूढ़ बीजेपी के लाभार्थी हैं. इस तरह के बाबा एक बार फिर चुनावों से पहले बीजेपी और मोदी सरकार की मदद करने के लिए सामने आए हैं ताकि अगले पांच वर्षों के लिए और अधिक लाभ उठाए जा सकें.’’