मनी लॉन्ड्रिंग मामले में रॉबर्ट वाड्रा फिर से किए गए तलब, पूछताछ के लिए पहुंचे ED ऑफिस

निदेशालय ने इस महीने वाड्रा से तीन दिनों में कुल 23 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की है.

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में रॉबर्ट वाड्रा फिर से किए गए तलब, पूछताछ के लिए पहुंचे ED ऑफिस
फोटो ANI
Play

नई दिल्लीः लंदन में संपत्ति खरीदने के मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई राबर्ट वाड्रा बुधवार को प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सामने पेश हुए. मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी वाड्रा से बीते कुछ दिनों से पूछताछ कर रही है. मंगलवार (19 फरवरी) को तबीयत ठीक न होने के कारण वाड्रा ईडी के सामने पेश नहीं हो पाए थे. जिसके बाद ईडी ने उन्हें पूछताछ के लिए बुधवार यानि की आज बुलाया था. 

तीन दिनों में 23 घंटे तक हुई पूछताछ
निदेशालय ने इस महीने वाड्रा से तीन दिनों में कुल 23 घंटे से अधिक समय तक पूछताछ की है. दिल्ली की एक अदालत ने उनसे कहा है कि वह जांच एजेंसी की पूछताछ में सहयोग करें.

विदेश में संपत्ति खरीदने का है मामला
वाड्रा पर आरोप है कि उन्होंने 19 लाख ब्रिटिश पाउंड मूल्य की संपत्ति लंदन के 12, ब्रायनस्टन स्क्वॉयर इलाके में धनशोधन के जरिए खरीदी है. जांच एजेंसी ने अदालत को बताया कि उसे ऐसी सूचना मिली है कि लंदन में वाड्रा की अनेक नयी संपत्तियां हैं. इनमें दो घर भी हैं, जिनमें एक का मूल्य 50 लाख और दूसरे का 40 लाख ब्रिटिश पाउंड है. इसके अलावा उनके छह अन्य घर और अन्य संपत्तियां हैं. वाड्रा पर आरोप है कि उन्होंने 19 लाख पाउंड की ब्रिटिश संपत्ति खरीदी है. ये संपत्ति लंदन के 12, ब्रायनस्टन स्क्वॉयर इलाके में मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए खरीदी गई है.

राजस्थान हाईकोर्ट ने लगाई गिरफ्तारी पर रोक
इसके अलावा 18 फरवरी को  राजस्थान उच्च न्यायालय ने रॉबर्ट वाड्रा की गिरफ्तारी पर लगी रोक को आगे बढाते हुए उन्हें जांच में प्रवर्तन निदेशालय का सहयोग करने को कहा. ईडी वाड्रा से जुड़ी एक फर्म के खिलाफ कथित धन शोधन मामले की जांच कर रही है. न्यायमूर्ति पी. एस. भाटी ने वाड्रा के वकील की ओर से जांच में सहयोग का आश्वासन मिलने के बाद मामले की सुनवाई के लिए 15 मार्च की तारीख तय की है.

वाड्रा के वकील कुलदीप माथुर ने अदालत को बताया, ‘‘अदालत के निर्देशानुसार वाड्रा 12 फरवरी को ईडी के समक्ष उपस्थित हुए थे और जांच में सहयोग कर रहे हैं.’’ रॉबर्ट वाड्रा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के बहनोई हैं. अदालत ने मामले की सुनवाई स्थगित करते हुए कहा कि अदालत की अनुमति के बगैर वाड्रा की गिरफ्तारी पर लगी रोक जारी रहेगी.