close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारिश में मस्ती कर रहे थे बच्चे, करंट की चपेट में आने से गई जान

तुषार की उम्र महज 11 साल और ऋषभ की उम्र 10 साल ही थी. मुंबई के कांदिवली' इलाके मे रहने वाले ओझा और तिवारी परिवार के ये बच्चे 10 और 11 साल के तुषार और रिशव घर वालों के बार–बार मना करने के बावजूद नहीं माने और बाहर की तरफ बारिश में दौड़ पड़े. 

बारिश में मस्ती कर रहे थे बच्चे, करंट की चपेट में आने से गई जान
बच्चे की फाइल तस्वीर.

मुंबई: देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में प्री-मानसून की बारिश हुई तो लोगों को गर्मी से थोड़ी राहत मिली. बारिश का मजा लेने के लिए ज्यादातर लोग सड़कों पर निकले और भीगकर बारिश का स्वागत किया. कुछ ऐसा ही स्वागत मुंबई के कांदीवली इलाके में रहने वाले तिवारी और झा के परिवार के बच्चों ने भी किया, लेकिन इन दोनों बच्चों का मजा इनके परिवार को जीवनभर गम देकर गया. इन दोनों बच्चों की बारिश में बिजली का शॉक लगने के कारण मौत हो गई. 

तुषार की उम्र महज 11 साल और ऋषभ की उम्र 10 साल ही थी. मुंबई के कांदिवली' इलाके मे रहने वाले ओझा और तिवारी परिवार के ये बच्चे 10 और 11 साल के तुषार और रिशव घर वालों के बार–बार मना करने के बावजूद नहीं माने और बाहर की तरफ बारिश में दौड़ पड़े. पहली बारिश थी बच्चे को कौन रोक सकता था. दोनों बच्चे जहां पर खेल रहे थे, उन्हीं सकरी गलियों में एक लोहे की सीढ़ी ऊपर की तरफ जा रही थी, जिसके बगल से बिजली के तार गए हुए थे. 

उन्हीं तारो में से किसी एक तार का कंरट उस सीढ़ी से लग गया. जब बच्चे बारिश से खेलकर घर की तरफ लौट रहे थे तो उन्होंने अनजाने में ही सीढ़ी को पकड़ लिया, जिससे इन बच्चों को बिजली का जोर का झटका लगा. इन बच्चे के साथ इन्हीं की उम्र की एक छोटी लड़की थी, जिसने इन बच्चों को बचाने की अपनी तरफ से पूरी कोशिश की, लेकिन जब वह इसमे कामयाब नहीं हो पाई तो वहां से भागकर इस घटना के बारे में बच्चों के घरवालों को दी. 

परिवार के लोग बच्चों को लेकर पास के अस्पताल गए, लेकिन तब तक उनकी ज़ान जा चुकी थी. बच्चों की मौत के बाद इलाके में हंगामा शूरू हो गया. मौके पर पुलिस पहुंची और उनसे हादसे में मौत का मामला दर्ज करके जांच शूरु कर दी.