close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

हैदराबाद: गाय के गोबर से बनाई गणपति की इको-फ्रैंडली मूर्तियां, हो रही है जमकर चर्चा

राजा सिंह ने कहा कि यह एक महान अविष्कार है और पर्यावरण के लिए वरदान है, हालांकि कोई भी सरकार इसके बारे में नहीं सोच रही है.

हैदराबाद: गाय के गोबर से बनाई गणपति की इको-फ्रैंडली मूर्तियां, हो रही है जमकर चर्चा
गोबर पर यह परीक्षण पंचगव्य अनुसंधान केंद्र बीरमगुड़ा श्री ब्रह्म रामा मल्लिकार्जुन स्वामी गौशाला द्वारा किया गया.

हैदराबाद: तेलंगाना के गोशामहल से बीजेपी के विधायक टी राजा सिंह ने मंगलवार को अपने ऑफिस में गाय के गोबर से बनी गणपति की मूर्तियों का अनावरण किया. राजा सिंह ने बताया कि ये मूर्तियां पर्यावरण के अनुकूल हैं. उन्होंने कहा कि गाय का गोबर बहुत लाभकारी होता है और हमने सरकार को कई बार इसका फायदा बताया है. उन्होंने कहा कि अगर गाय के गोबर से गणपति की मूर्तियां बनाई जाती हैं तो इसका फायदा पर्यावरण को होगा और केमिकल से प्रदूषित हो रहे विनायक सागर को भी फायदा मिलेगा. साथ ही इसका बड़ा फायदा यह है कि आपको यह गणपति गाय के गोबर से जरूर मिलेगा. 

 

राजा सिंह ने कहा कि यह एक महान अविष्कार है और पर्यावरण के लिए वरदान है, हालांकि कोई भी सरकार इसके बारे में नहीं सोच रही है कि गोबर पर यह परीक्षण पंचगव्य अनुसंधान केंद्र बीरमगुड़ा श्री ब्रह्म रामा मल्लिकार्जुन स्वामी गौशाला द्वारा किया गया. वहीं, डॉ. सुदर्शन सिंह लोध ने कहा कि हमें ऐसा कुछ बनाना था. अगर पर्यावरण को नुकसान नहीं होगा और रोजगार भी मिलेगा, तो यह एक सुनहरा मौका है. उन्होंने कहा कि अगर गाय के गोबर से गणपति बनाने में सरकार हमारी कुछ मदद करना चाहती है, तो हमने पंचगव्य परीक्षण केंद्र में गोबर से ऐसी चीजें बनाई हैं, जिससे जनता को लाभ होगा.

डॉ. लोध ने कहा कि हमारे पुराणों में कहा गया है कि 'गोमय वस्ते लक्ष्मी'. हमने इस वर्ष इसे सिद्ध किया है. उन्होंने बताया कि हमने गणेश उत्सव के मद्देनजर गणपति की दस हजार मूर्तियां बनाई हैं. उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य पर्यावरण के अनुकूल गणपति बनाना है जिसमें विधायक राजा सिंह ने हर संभव सहायता प्रदान करने का भरोसा दिया है.