‘वायु’ से अब और अधिक खतरा नहीं, अपने-अपने घरों को लौट सकते हैं लोग: रूपाणी

‘वायु’ से अब और अधिक खतरा नहीं, अपने-अपने घरों को लौट सकते हैं लोग: रूपाणी

रूपाणी ने कहा, ‘‘स्कूल और कॉलेज कल से अपने नियत समय पर शुरू हो जायेंगे. राहत एवं बचाव अभियान की निगरानी के लिये तटीय जिलों में नियुक्त किये गए. 

‘वायु’ से अब और अधिक खतरा नहीं, अपने-अपने घरों को लौट सकते हैं लोग: रूपाणी

अहमदाबादः गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने शुक्रवार को कहा कि चक्रवाती तूफान ‘वायु’ से राज्य को अब और खतरा नहीं है क्योंकि इसने पश्चिम दिशा की ओर रूख कर लिया है. गांधीनगर में शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक के बाद रूपाणी ने प्रशासन को सुरक्षित जगह पर भेजे गये करीब 2.75 लाख लोगों को उनके अपने-अपने घर वापस भेजने का निर्देश दिया. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘गुजरात अब पूरी तरह सुरक्षित है. चक्रवाती तूफान ‘वायु’ से अब कोई खतरा नहीं है क्योंकि तूफान अब अरब सागर में पश्चिम की ओर बढ़ गया है.’’ 

उन्होंने पत्रकारों को बताया, ‘‘तटीय इलाकों से करीब 2.75 लाख लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया गया था जो अब अपने-अपने घरों को लौट के लिये स्वतंत्र हैं.’’ उन्होंने घोषणा की कि राज्य सरकार अगले तीन दिनों तक शरणार्थियों के दैनिक खर्च के लिये तकरीबन 5.50 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान करेगी.

यहां के मौसम विज्ञान केंद्र के ताजा मौसम रिपोर्ट के अनुसार तूफान ‘‘तट से धीरे-धीरे दूर जा रहा है’’ और फिलहाल यह पोरबंदर से करीब 150 किलोमीटर दूर अरब सागर में स्थित है. रूपाणी ने कहा, ‘‘स्कूल और कॉलेज कल से अपने नियत समय पर शुरू हो जायेंगे. राहत एवं बचाव अभियान की निगरानी के लिये तटीय जिलों में नियुक्त किये गये 

वरिष्ठ अधिकारियों और मंत्रियों को भी वापस आने का निर्देश दे दिया गया है. उन इलाकों में आज से सड़कों पर बस सेवा शुरू हो गयी है.’’ उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) अगले 48 घंटे तक तटीय इलाकों में बने रहेंगे.

Trending news